Presidents Award for Gallantry: भारत के 73वें 'गणतंत्र दिवस' की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने देश के 939 बहादुर पुलिसकर्मियों को 'प्रेसिंडेंट मेडल' से सम्मानित करने का ऐलान किया था. इसमें 189 मेडल वीरता के लिए दिए गए हैं. वीरता मेडल पाने वाले इन जांबाज़ पुलिस अधिकारियों में 'दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल' के डीसीपी संजीव कुमार यादव (IPS Sanjeev Kumar Yadav) को भी 'पुलिस मेडल फ़ॉर गैलेंट्री' के लिए चुना गया है. इसके साथ ही आईपीएस संजीव यादव को 11वीं बार 'वीरता पदक' से सम्मानित किया जाएगा.

आइये जानते कौन हैं आईपीएस संजीव यादव जो 11वीं बार 'वीरता पदक' सम्मानित किये जायेंगे-

संजीव कुमार यादव (Sanjeev Kumar Yadav) अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिज़ोरम और केंद्र शासित प्रदेश (AGMUT) कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं. वो साल 2004 से दिल्ली पुलिस की 'आतंकवाद निरोधी इकाई' यानी 'स्पेशल सेल' की अगुवाई कर रहे हैं. आईपीएस संजीव यादव इकलौते ऐसे पुलिस अधिकारी हैं जिन्होंने 15 गंभीर मामलों के अलावा आतंकवाद से संबंधित 44 मामलों की जांच की है और 100 से अधिक आतंकवादियों को गिरफ़्तार किया है.

IPS Sanjeev Kumar Yadav Reciving Award
Source: hotgossips

आईपीएस संजीव यादव द्वारा गिरफ़्तार किए गए आतंकी 'इंडियन मुज़ाहिदीन', 'जैश-ए-मोहम्मद', 'लश्कर-ए-तैयबा', 'हिजबुल-मुजाहिदीन', 'ख़ालिस्तान संगठन', 'बब्बर खालसा इंटरनेशनल', 'कंगलीपाक कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ नॉर्थ ईस्ट', 'सिमी' और 'नक्सल' जैसे विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठनों का हिस्सा थे.

IPS Sanjeev Kumar Yadav With Wife
Source: hotgossips

75 से अधिक 'एनकाउंटर ऑपरेशन' कर चुके हैं लीड 

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल का नेतृत्व करते हुए संजीव कुमार यादव ने अब तक 75 से अधिक 'एनकाउंटर ऑपरेशनों' में 55 आतंकियों और गैंगस्टरों को मार गिराया है. संजीव यादव साल 2008 में दिल्ली के मशहूर 'बाटला हाउस' एनकाउंटर केस के लिए भी जाने जाते हैं. संजीव यादव ने ही इस एनकाउंटर की अगुवाई की थी, जिसमें इंडियन मुजाहिदीन की भारतीय इकाई के 2 आतंकियों आतिफ़ अमीन और छोटा साजिद को मार गिराया था.  

IPS Sanjeev Kumar Yadav With Family
Source: hotgossips

भारत से इस आतंकी संगठन का ख़ात्मा किया  

आईपीएस संजीव कुमार यादव की अगुवाई में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीमों ने 50 से अधिक आतंकियों को गिरफ़्तार कर भारत से आतंकी संगठन 'इंडियन मुजाहिद' का ख़ात्मा किया था. इसके अलावा साल 2005 में 'दिल्ली सीरियल ब्लास्ट केस' भी पुलिस ने संजीव यादव की अगुवाई में ही सुलझाया था. इस दौरान हमले का मास्टरमाइंड 'लश्कर-ए-तैयबा' का आतंकी अबू हुजेफा जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में मुठभेड़ के दौरान मारा गया था.

IPS Sanjeev Kumar Yadav Reciving Award
Source: livehindustan

इन बड़े मामलों को कर चुके हैं लीड  

आईपीएस संजीव यादव ने साल 2007 में 'यूपी कोर्ट विस्फोट मामला', साल 2008 में 'दिल्ली, जयपुर, अहमदाबाद और सूरत सीरियल ब्लास्ट केस', साल 2010 में 'जर्मन बेकरी ब्लास्ट केस' और 'जामा मस्जिद ब्लास्ट केस', साल 2012 में 'इज़राइल डिप्लोमेट कार ब्लास्ट केस', साल 2013 में 'आईपीएल स्पॉट फ़िक्सिंग केस' लीड किये थे. इसके अलावा साल 2011 के 'मुंबई ब्लास्ट केस' में जांच करने के अलावा यादव की अगुवाई में 26/11 मुंबई विस्फोट मामले में मुख्य आरोपी अबू जंदल को भी गिरफ़्तार किया गया था.

IPS Sanjeev Kumar Yadav Reciving Award
Source: abplive

संजीव यादव ज़िंदगी पर बनी थी 'बटला हाउस' फ़िल्म

जॉन अब्राहम (John Abraham) स्टारर फ़िल्म बटला हाउस आईपीएस संजीव यादव की ज़िंदगी पर ही बनी थी. हालांकि, फ़िल्म की कहानी 'बाटला हाउस एनकाउंटर केस' पर आधारित थी. जॉन ने फ़िल्म में इस एनकाउंटर को लीड करने संजीव कुमार यादव का किरदार निभाया था. फ़िल्म में संजीव यादव की पत्नी शोभना यादव का किरदार एक्ट्रेस मृणाल ठाकुर ने निभाया था. बता दें कि शोभना यादव जानी मानी पत्रकार हैं.

आईपीएस संजीव कुमार यादव को उनके इन साहसी कारनामों के लिए 10 बार 'राष्ट्रपति पदक' से सम्मानित किया जा चुका है. अब उन्हें 11वीं बार राष्ट्रपति द्वारा 'मेरिटोरियस सर्विस मेडल' से भी सम्मानित किया जायेगा. 

ये भी पढ़ें: मिलिए उस सुपर कॉप नवनीत सिकेरा से, जिसकी ज़िंदगी पर बनी है Web Series 'भौकाल'