Who is Shagun Batra : National Board of Examinations in Medical Sciences ने NEET PG 2022 का परिणाम घोषित कर दिया है. इसमें डॉ. शगुन बत्रा ने All India Medical Entrance Exam में टॉप किया है. वहीं, डॉ. जॉसेफ़ को दूसरा, तो डॉ. हर्षिता को तीसरा स्थान मिला है. 

बता दें कि शगुन दिल्ली के आर.के.पुरम स्थिति दिल्ली पब्लिक स्कूल की छात्रा रही हैं और वो पढ़ाई में शुरू से ही अव्वल रही हैं. वैसे बता दें कि शगुन (Who is Shagun Batra) डॉक्टर नहीं बनना चाहती थीं. आइये, इस ख़ास आर्टिकल में जानते हैं डॉ शगुन की ज़िंदगी और उनकी सफ़लता से जुड़ी दिलचस्प बातें.   

आइये, अब विस्तार से पढ़ते (Who is Shagun Batra) हैं आर्टिकल. 

पढ़ाई में रही हैं शुरू से अव्वल  

Shaugun batra
Source: indiatoday

Who is Shagun Batra : 23 साल की शगुन बत्रा ने NEET PG 2022 में टॉप किया है. वो दिल्ली पब्लिक स्कूल की छात्रा रह चुकी हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शगुन ने 2016 में दिल्ली स्थित ‘मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज (MAMC) में प्रवेश लिया था और अपने MBBS बैच की गोल्ड मेडलिस्ट रहीं हैं. इसके अलावा, उन्होंने कक्षा 12वीं में भी टॉप किया था. 

मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया था कि क्लास 10th में 10.0 CGPA और क्लास 12th में 98.2% अंक हासिल हुए थे. 
उपलब्धि यहीं नहीं थमती, उन्होंने JIPMER UG परिक्षा में AIR52, AIIMS UG में AIR 86 और NEET UG में AIR 103 रैंक प्राप्त किया था.    

शगुन की परिक्षा की तैयारी   

Shagun batra
Source: freepressjournal

परिक्षा की तैयारी पर बात करते हुए शगुन कहती हैं कि, “NEET PG के लिए तैयारी करना उतना आसान काम नहीं है. हालांकि, बाकी लोग परिक्षा की तैयारी के लिए कई चीज़ों से ख़ुद को दूर कर लेते हैं, जैसे सोशल मीडिया और अन्य मनोरंजन के साधन. लेकिन, ख़ुद को आराम देना भी ज़रूरी है. इसलिए, मैंने इग्ज़ाम की तैयारी के साथ-साथ शरीर की पूरा आराम देने पर भी ध्यान दिया, क्योंकि ये भी परिक्षा की तैयारी का अहम हिस्सा है.” 

डॉक्टर बनने का कोई सपना नहीं था 

doctor
Source: huffpost

Who is Shagun Batra : डॉ. शगुन कहती हैं कि, "डॉक्टर बनना में मेरा कोई बचपन का सपना नहीं था. क्योंकि ये फ़ील्ड काफ़ी चैलैजिंग है, इसलिए मैंने इसमें आगे बढ़ने का सोचा." वहीं, वो आगे कहती हैं कि, “किसी का जीवन बदलने की शक्ति की बात ने मुझे इसमें आगे बढ़ने की प्रेरणा दी यानी इसके ज़रिये मैं किसी के जीवन में बदलाव लाने का काम कर सकती हूं." वहीं, शगुन DBMCI Egurukul को इसका श्रेय देती हैं, जिन्होंने नीट पीजी की तैयारी में उनका मार्गदर्शन किया. 

कोविड-19 की वजह से हुईं दिक्कतें 

covid in India
Source: ndtv

Who is Shagun Batra : डॉ. शगुन बताती हैं कि, “कोविड-19 की वजह से नीट पीजी 2021 की काउंसलिंग प्रक्रिया टल गईं थीं. इस वजह से कई छात्र प्रैक्टिकल लर्निंग में चूक गए थे. वहीं, अंतिम वर्ष का ज़्यादातर समय घर में बिताना पड़ा. ये समय एक छात्र के लिए महत्वपूर्ण होता है. हम मरीज़ों से बातचीत भी नहीं कर पाए. हालांकि, धीरे-धीरे चीज़ें ठीक हुईं.” 


डॉ. शगुन अपने परिवार की पहली डॉक्टर हैं. उनके पिता आईटी क्षेत्र में काम करते हैं, जबकि उनकी मां गृहिणी हैं. वहीं, तीन साल पहले उनके भाई का निधन हो गया, जब वह NEET PG की तैयारी कर रही थीं.