18 फरवरी, 2019 को आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में मेजर विभूति शंकर ढौंढियाल शहीद हो गए. ये वही मुठभेड़ थी जिसमें भारत के जवानों ने पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड को मार गिराया. पुलवामा का बदला लेने में देश ने 4 जवानों को खो दिया और उन्हीं में से एक थे मेजर विभूति ढौंढियाल.

Source: Dainik Jagran

ठीक 1 साल पहले, मेजर ढौंढियाल को 'I Love You' कहकर अलविदा कहा था उनकी पत्नी नितिका ढौंढियाल ने. मेजर ढौंढियाल की शहादत से 10 महीने पहले ही शादी हुई थी.

पूरे देश की आंखें नम कर दिया था इस वीडियो ने.


निकिता ने पति के शहादत के लगभग 1 साल बाद, शॉर्ट सर्विस कमीशन (एसएससी) की परीक्षा और इंटरव्यू पास कर लिया है और अब वो मेरिट लिस्ट का इंतज़ार कर रही हैं.

Source: News Ato

News18 की रिपोर्ट के अनुसार निकिता ने कहा,


'मैंने विभू की शहादत के 6 महीने बाद एसएससी का फ़ॉर्म भरा. ये मेरा तरीका था Healing का. जब मैंने परीक्षा और इंटरव्यू दिया तो मैंने वो महसूस किया जो उन्होंने एसएससी देते हुए किया होगा. मैंने उनसे, उनके डर से उनके Anxiety से जुड़ा महसूस किया. उससे मुझे ताक़त मिली.'

मैंने वक़्त लिया. जो हुआ उसे मुझे एक्सेप्ट करना था. विभू बहुत प्रगतिशील थे. उनकी इच्छा थी कि मैं उनसे बेहतर करूं. जब भी मुझे भारतीय सेना जॉइन करने के निर्णय को लेकर Anxiety होती तो मैं आंखें बंद करती और ये सोचती कि विभू क्या करते. भारतीय सेना से जुड़ने के निर्णय में विभू ने काफ़ी मदद की.

- निकिता ढौंढियाल

Source: Steemit

वॉर विडोज़ के लिए सेना एज लिमिट में छूट देती है पर प्कर्यिा उतनी ही टफ़ होती है.


निकिता नोएडा के एमएनसी में काम करती हैं और जल्द ही चेन्नई स्थित ऑफ़िसर्स ट्रेनिंग अकेडमी (ओटीए) जॉइन करने वाली हैं.