भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान भारत लौट आए हैं. शुक्रवार रात क़रीब सवा नौ बजे पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने उन्हें भारतीय अधिकारियों को सौंपा. वो दिल्ली पहुंच चुके हैं, शनिवार को उनको ‘डीब्रीफ़िंग’ से गुजरना होगा जिसमें सेना और गुप्तचर एजेंसियों के अधिकारियों की मौजूदगी में उनकी शारीरिक जांच होगी.

Source: timesnownews

विंग कमांडर अभिनंदन की वापसी से देशभर में ख़ुशी का माहौल है. देशभर से उन्हें बधाइयां मिल रही हैं. मीडिया से लेकर सोशल मीडिया और खेल से लेकर राजनीति तक के दिग्गज अभिनंदन की बहादुरी को सैल्यूट कर रहे हैं.

Source: timesnownews

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभिनंदन की वापसी पर ट्वीट करते हुए लिखा, 'वेलकम होम विंग कमांडर अभिनंदन! आपके अदम्य साहस पर देश को गर्व है. हमारी सशस्त्र सेनाएं 130 करोड़ भारतीयों की प्रेरणा हैं. वंदे मातरम!'

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अभिनंदन की वापसी पर ट्वीट करते हुए लिखा, 'वेलकम होम. पूरे देश को विंग कमांडर अभिनंदन पर गर्व है'.

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी अभिनंदन के आगमन पर उनका स्वागत किया.

क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि हीरो सिर्फ़ चार अक्षर नहीं हैं. ये इससे कहीं बढ़कर हैं.

बॉक्सर मैरी कॉम

बीसीसीआई ने बेहद ख़ास अंदाज़ में अभिनंदन का स्वागत किया.

अभिनन्दन के पाकिस्तानी पहुंचने की असल वजह क्या थी?

Source: inkhabar

भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तानी सीमा में घुसकर 'जैश-ए-मोहम्मद' के ठिकानों को निशाना बनाने के बाद 27 फ़रवरी को पाकिस्तानी वायुसेना की ओर से भारत की वायुसीमा का उल्लंघन किया गया. इसकी जवाबी कार्रवाई को अंजाम दिया विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने. उन्होंने पाकिस्तान के F-16 विमान को मार गिराया. इस दौरान उनका विमान मिग-21 भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया और वो पैराशूट के ज़रिये पाकिस्तान की सीमा में जा पहुंचे थे. जहां पाकिस्तानी सेना ने अभिनंदन को अपने कब्ज़े में ले लिया था.

कौन हैं विंग कमांडर अभिनंदन?

Source: haribhoomi

- 34 वर्षीय अभिनंदन वर्तमान खडकवासला के 'नेशनल डिफ़ेंस अकादमी' के छात्र रहे हैं.

- अभिनंदन 2004 में सेना में शामिल हुए थे और उनका सर्विस नंबर 27981 है. पिछले 15 सालों से भारतीय वायुसेना में फ़ाइटर पायलट हैं.
- मिग-21 उड़ाने से पहले विंग कमांडर अभिनंदन सुखोई-30 जैसे लड़ाकू विमान उड़ाते थे.
- 2011 में एक फूड ट्रैवल शो में कहा था कि 'बैड एटीट्यूड' ही एक अच्छा फ़ाइटर बनाता है.
- साल 2011 में न्यूज चैनल एनडीटीवी के एक प्रोग्राम में अभिनंदन ने अपने अनुभव के बारे में बातचीत में कहा था कि फ़ाइटर पायलट के लिए सबसे जरूरी चीज़ टीमवर्क है.
- विंग कमांडर अभिनंदन भारतीय वायुसेना के पूर्व फ़ाइटर पायलट एयर मार्शल सिम्हाकुट्टी वर्तमान के बेटे हैं और भाई भी एयरफ़ोर्स में हैं. एयर मार्शल सिम्हाकुट्टी वर्तमान ईस्टर्न एयर कमांडर चीफ़ के पद पर भी काम कर चुके हैं.

Source: timesnownews

एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर

Source: newsstate
हम ख़ुश हैं कि पाकिस्तान ने विंग कमांडर अभिनंदन को हमें सकुशल सौंप दिया है. पूरी प्रकिया वायु सेना के एसओपी के अनुसार की गई. वो विमान से गिरे थे इसलिए उनका विस्तृत मेडिकल चेक-अप कराया जाएगा.

क्यों हुई अभिनंदन को छोड़ने में देरी?

Source: timesnownews

दरअसल, विंग कमांडर अभिनंदन को दोपहर में ही भारत को सौंपा जाना था, लेकिन पाकिस्तान ने कागजी कार्रवाई के नाम पर भारत को लंबा इंतज़ार करवाया. ख़बरों के मुताबिक़ पाकिस्तानी वायु सेना ने अभिनंदन को सौंपने का प्रोग्राम दो बार बदला. देरी की असल वजह थी रिहाई से पहले अभिनंदन के बयान की वीडियो रिकॉर्डिंग, जिसमें अभिनंदन से पाकिस्तानी आर्मी की तारीफ़ करवाई गई है.

किसके दबाव में छोड़े गए अभिनंदन?

Source: timesnownews

विंग कमांडर अभिनंदन के पकड़े जाने के दिन से ही पाकिस्तान पर भारत और अंतरराष्ट्रीय जगत ने काफ़ी दबाव बनाया था. मजबूरन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान को संसद में अभिनंदन को ये कहकर छोड़ना पड़ा कि पाकिस्तान शांति चाहता है. वहीं भारत का कहना है कि जेनेवा कन्वेंशन के अंतर्गत अभिनंदन को छोड़ना पाकिस्तान की मजबूरी थी.

Source: bhaskar

पाकिस्तानी सेना की क़ैद में होने के बावजूद विंग कमांडर अभिनंदन ने उन्हें ख़ुफ़िया जानकारी देने से साफ़ इंकार कर दिया था. इस वीर जवान को उनके इस शौर्य और साहस के लिए हमारा सलाम.

जय हिन्द !