कोविड- 19 पैंडमिक ने देश और दुनिया में कई लोगों की नौकरी छीन ली है. बड़े-बड़े MNC में काम करने वालों से लेकर मज़दूरों तक.

पैंडमिक की वजह से अगर कोई सबसे ज़्यादा जूझ रहे हैं तो वो है हमारे हाउसहेल्प, मज़दूर, सब्ज़ी-फल विक्रेता, रेहड़ी लगाने वाले आदि. हम मे से कुछ ने तो अपने हाउसहेल्प को पगार, आधी पगार देना जारी रखा पर कई लोगों ने उन्हें पगार नहीं दी.

Source: The Delhiwalla

अक्सर हम सब उन लोगों के प्रति कृतज्ञ होना भूला जाते हैं जिनकी वजह से हमारी ज़िन्दगी आसान होती है, हमारे यहां काम करने आने वाले बेवजह न तो छुट्टी लेते हैं और कई बार तो उन्हें पेड लीव भी नहीं मिलती. बड़े-बड़े दफ्तरों में काम करने वालों को तो पेड लीव से लेकर मेडिकल लीव तक सब सुविधाएं मिलती हैं पर जहां हाउसहेल्प की मदद की बात आती है कई लोगों का रवैया बदल जाता है.

@veenavenugopal नामक यूज़र ने ट्विटर पर एक स्क्रीनशॉट शेयर किया. गुरुग्राम की ही किसी महिला ने फ़ेसबुक ग्रुप पर अपनी मेड के बारे में कुछ बातें लिखी थीं. इस महिला का कहना था कि वो 'बहुत अच्छी है' पर वो अपनी मेड की पगार बढ़ाने को तैयार नहीं थी. 

Source: Free Press Journa

'मेरी 12 सालों की मेड के साथ का अनुभव. उसे मैं अपने परिवार का ही हिस्सा मानती थी, मैं उसे अपने बच्चे के साथ ही बाहर ले जाती, फ़ैमिली फंशन, आउटिंग, मार्केट ले जाती. उसे मैंने किसी काम से नहीं रोका. इसमें कोई संदेह नहीं कि वो मेरे बच्चे के साथ और घर के काम में बेहद अच्छी थी.

मैंने आज उसे कॉल किया और 1 तारीख़ से जॉइन करने को कहा क्योंकि हमारी सोसाइटी ने मेड अलाउ करना शुरू कर दिया था. उसने कहा कि अगर आप पैसा बढ़ाएंगी तभी आ पाऊंगी. उसने ऐसा पहले भी किया था, मैंने पगार बढ़ाई और उसने दोबारा जॉइन किया.
बुरा मत मानिये पर मेड तो मेड ही रहेगी. वो तभी तक आपके साथ अच्छा व्यवहार करेंगी जब तक आप उनके साथ अच्छे हो और उनकी हिम्मत इतनी होती है कि वो आपको तभी चोट पहुंचाएंगी जब आपको उनकी ज़रूरत होगी.
आज मुझे दुख हो रहा है और ख़ुद पर ग़ुस्सा आर रहा. उन्हें जो चाहिए होता है हम सब देते हैं पर जब हमारी बात आती है तब उनके नख़रे शुरू हो जाते हैं मानो जैसे हम उनके लिए काम करते हों.'

 पैंडमिक में अगर कोई काम हमें करना था, तो वो था घर पर रहना और जहां तक हो सके एक-दूसरे की मदद करना. दुख की बात है कि बहुत से लोगों ने ऐसा नहीं किया और अपने हाउस हेल्प के पैसे काट लिए. 

ट्विटर ने इस महिला को आड़े हाथों ले लिया-