कुछ दिनों पहले आर्मी चीफ़ बिपिन रावत ने कहा था कि महिलाएं कॉम्बेट रोल्स के लिए सक्षम नहीं हैं. बिपिन रावत के बयान का कुछ लोगों ने समर्थन किया था, वहीं कुछ लोगों ने उन्हें महिलाओं की सक्षमता पर संदेह करने के लिए आड़े हाथों लिया था.


भारतीय रक्षा मंत्रालय ने महिलाओं को भारतीय सेना की हर ब्रांच में जौहर दिखाने का मौका देने का निर्णय किया है.

Source: News 18

ANI के ट्वीट के अनुसार, महिला अफ़सरों को भारतीय सेना की दसों ब्रांच में Permanent Commission दिया जाएगा. अब तक महिलाओं को इसमें Short Service Commission के लिए ही चुना जाता रहा है.


प्रधानमंत्री मोदी ने अपने स्वतंत्रता दिवस के भाषण में महिला अफ़सरों को Permanent Commission देने की घोषणा की थी.

Source: Hindustan Times

News 18 के अनुसार, 4 साल की Commissioned Service के बाद महिला अफ़सरों को Permanent Commission का ऑपशन दिया जाएगा.