सोशल मीडिया पर एक महिला आरपीएफ़ ऑफ़िसर की जमकर तारीफ़ हो रही है. वजह है उनकी दरियादिली. उन्होंने झारखंड के हटिया रेलवे स्टेशन पर आई एक श्रमिक ट्रेन में एक 4 महीने के नवजात के लिए दूध का इंतजाम किया था.

दरअसल, रविवार को सुबह 6 बजे बेंगलुरू से गोरखपुर जा रही एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन झारखंड के हटिया रेलवे स्टेशन पर आकर रुकी. इस ट्रेन से सफ़र कर रही एक महिला का 4 महीने का बच्चा भूख से परेशान था. उसने ट्रेन के रुकने के बाद पास खड़ी आरपीएफ़ एएसआई सुशीला बड़ाईक से बच्चे के लिए दूध का इंतज़ाम करने की गुहार लगाई. 

milk
Source: navbharattimes

सुशीला जी मौक़े की नज़ाकत को समझते हुए तुरंत अपने घर गईं और बच्चे के लिए एक बोतल में गर्म दूध ले आई. इसे उन्होंने बच्चे की मां को दिया. बच्चे की मां ने इसके लिए आभार व्यक्त करते हुए उन्हें दिल से धन्यवाद कहा.

DRM रांची के ट्विटर हैंडल से नवजात की मां को दूध पकड़ाती आरपीएफ़ ऑफ़िसर की तस्वीर को शेयर किया गया है. उनके इस ट्वीट को लोग जमकर लाइक कर रहे हैं. 

लॉकडाउन और उसमें ढील मिलने के बाद देश के अलग-अलग हिस्सों से श्रमिक स्पेशल ट्रेन्स से लोग अपने-अपने घर जा रहे हैं. उनके लिए कई बार उचित खाने-पीने की व्यवस्था न होने की शिकायत मिली है. इसके बाद से कुछ एनजीओ और समाज सेवक अपने स्तर पर यात्रियों के लिए खाने पीने की व्यवस्था कर रहे हैं. रेल विभाग भी यात्रियों के लिए खाने का इंतजाम करने की कोशिश में जुटा हुआ है.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.