पीरियड्स से जुड़ी कई अजीबो-ग़रीब बातें हमने अपने जीवनकाल में सुनी हैं. पीरियड्स के दौरान महिलाओं पर कई पाबंदियां लगा दी जाती हैं. जैसे रसोई में प्रवेश न करने देना, घर के एक कोने में रखना, किसी को यहां तक कि अपने बच्चों को छूने की इजाज़त न देना. देश के कई हिस्सों में आज भी ऐसे बेतुके नियम माने जाते हैं.


पीरियड्स से जुड़ी कई अजीबो-ग़रीब बातें हमने अपने जीवनकाल में सुनी हैं. पीरियड्स के दौरान महिलाओं पर कई पाबंदियां लगा दी जाती हैं. जैसे रसोई में प्रवेश न करने देना, घर के एक कोने में रखना, किसी को यहां तक कि अपने बच्चों को छूने की इजाज़त न देना. देश के कई हिस्सों में आज भी ऐसे बेतुके नियम माने जाते हैं.

Source: You Tube

दासजी ने ये भी कहा कि अगर पीरियड्स में महिला अपने पति के लिए खाना बनाती है तो अगले जन्म में उसका 'कुतिया' रूप में जन्म होगा.


ये ज्ञान देने वाले स्वामी, स्वामीनारायण भुज मंदिर के हैं. ये वही मंदिर है जिसके ट्रस्ट द्वारा चलाये जा रहे इंस्टीट्यूट में 68 लड़कियों के कपड़े उतरवाए गए थे ये चेक करने के लिए कि उन में से किसे पीरियड्स आ रहे हैं.

Source: Ni 24 News

स्वामी जी वीडियो में गुजराती में प्रवचन दे रहे हैं और श्रोताओं से ये भी कह रहे हैं,

'आप जो चाहे महसूस कर सकते हैं पर ये नियम शास्त्रों में लिखे हैं.'

India Today की रिपोर्ट के मुताबिक़, भुज के इसंटीट्यूट की प्रिंसिपल रीट रानीन्गा, होस्टरल रेक्टर रमिलाबेन और कॉलेज पिउन नैना को निलंबित कर दिया गया है.