दुनिया भर के 200 से अधिक तेज़ी से पैर पसार रहे कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने के लिए ‘वर्ल्ड बैंक’ ने विकासशील देशों को तत्काल मदद देने का फ़ैसला किया है. 

livemint

बीते गुरुवार को वर्ल्ड बैंक ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए भारत को 1 अरब डॉलर की आपातकालीन आर्थिक मदद देने का एलान किया है. वर्ल्ड बैंक ने लॉकडाउन और उसकी वजह से होने वाले आर्थिक नुक़सान को देखते हुए ये एलान किया है. 

cgtn

वर्ल्ड बैंक ने आर्थिक मदद के तौर पर पहले चरण में 25 विकासशील देशों को विशेष आपातकालीन मदद देने का एलान किया है. पहले चरण में भारत समेत अफ़्रीका, पूर्वी एशिया और पेसिफ़िक, दक्षिण एशिया, यूरोप और सेंट्रल एशिया, मध्यपूर्व और उत्तरी अफ़्रीका के कई विकासशील देश शामिल होंगे. इसके बाद 40 अन्य देशों को भी आर्थिक मदद दी जाएगी. 

वर्ल्ड बैंक द्वारा भारत को सबसे अधिक पैसा

बीते गुरुवार को वर्ल्ड बैंक ने कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए विकासशील देशों को मदद देने का एलान किया था. इस दौरान भारत को 1 अरब डॉलर, पाकिस्तान को 20 करोड़ डॉलर, अफ़गानिस्तान को 10 करोड़ डॉलर, मालदीव को 73 लाख डॉलर और श्रीलंका को 12.86 करोड़ डॉलर की सहायता को मंजूरी दी है.

वर्ल्ड बैंक ने कहा कि, 1 अरब डॉलर की आपातकालीन वित्तीय सहायता से भारत को कोरोना वायरस की जांच करने, बेहतर स्क्रीनिंग, संपर्कों का पता लगाने, प्रयोगशाला जांच, ज़रूरी मेडिकल उपकरण ख़रीदने और आइसोलेशन सेंटर बनाने में मदद मिलेगी. 

aravot

वर्ल्ड बैंक ने साथ ही कहा कि ‘वैश्विक कोरोना वायरस महामारी के प्रभाव से निपटने में हमने इन सभी देशों की मदद के लिए 15 महीने के लिहाज से 160 अरब डॉलर की आपातकालीन सहायता जारी करने की योजना को मंजूरी दी है’. 

weather

जानकारी दे दें कि कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से अब तक दुनिया के 200 देश प्रभावित हो चुके हैं. अब तक वायरस की वजह से पूरी दुनिया में 10 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से 53,241 लोगों की मौत भी हो चुकी है.