प्लास्टिक की बोतलें पर्यावरण के लिए कितनी ख़तरनाक हैं, ये किसी से छुपा नहीं है. दुनियाभर के लोग प्लास्टिक से निजात पाने के उपाए तलाशने में लगे हैं. ऐसे ही कनाडा के एक शख़्स ने प्लास्टिक की बोतलों से छुटकारा पाने के लिए एक नायाब तरीका खोज निकाला है. इन्होंने प्लास्टिक की बोतलों से एक पूरा गांव बना दिया है.

कनाडा के एक उद्यमी Robert Bezeau इधर-उधर फैली प्लास्टिक की बोतलों से परेशान थे. वो दिन-रात इसी सवाल की उधेड़-बुन में लगे रहते कि इन बेकार हो चुकी प्लास्टिक की बोतलों को कैसे इको-फ्रेंडली तरीके से इस्तेमाल किया जाए.

इसका हल इन्होंने प्लास्टिक की बोतलों से घर बनाने के आइडिया के रूप में निकाला. ये आइडिया काम कर गया और वो इनकी मदद से एक पूरा का पूरा गांव बसाने में कामयाब रहे.

ये गांव पनामा के Bocas del Toro इलाके में हैं. इस इको-फ़्रेंडली गांव को देखने अब तो टूरिस्ट भी आने लगे हैं. यहां का हर घर प्लास्टिक की बोतलों से बना है और ये देखने में भी काफ़ी सुंदर है.

प्लास्टिक की बोतलों से बने ये घर किफ़ायती होने के साथ ही इको-फ़्रेंडली हैं. इनसे पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचता. ये आम घरों के मुकाबले कम गर्म रहते हैं और इनमें एसी लगाने की भी ज़रूरत नहीं पड़ती.

एक 100sqm का घर बनाने में करीब 14000 प्लास्टिक की खाली बोतलों का इस्तेमाल किया जाता है. मज़बूती में भी इनका कोई सानी नहीं. ये घर भूकंपरोधी भी हैं.

एक आइलैंड पर बसे इस गांव में पहुंचने के लिए लोगों को एक फ़ेरी का सहारा लेना पड़ता है. Robert Bezeau ने इस गांव में प्लास्टिक की बोतलों से एक जेल और महल भी बनाया है.

पर्यटकों को इन्हें देखने के साथ ही इनमें रहने का भी मौका मिलता है. प्लास्टिक के इस महल को बनाने में 2 साल का समय लगा. इसमें 40,000 प्लास्टिक की बोतलों का इस्तेमाल किया गया है. इसे दिखाकर लोगों ये मैसेज दिया जाता है कि वो प्लास्टिक का कम से कम और हो सके तो दोबारा इस्तेमाल करें. ताकी पर्यावरण को कम से कम नुकसान पहुंच सके.

यहां हर साल तकरीबन 1 लाख से अधिक टूरिस्ट आते हैं. जो इस आइलैंड पर कम से कम 5 दिन बिता कर जाते हैं.

इस बारे में Robert Bezeau ने बात करते हुए कहा- 'एक द्वीप पर रहने की सबसे बड़ी समस्या ये है कि यहां सारा सामान बोट के ज़रिये आत है, जो प्लास्टिक में पैक होता है. सामान इस्तेमाल होने के बाद प्लास्टिक को फेंक दिया जाता है. लेकिन आप कभी भी इस द्वीप से एक भी बोट से प्लास्टिक को ले जाते नहीं देखेंगे.'

पर्यावरण को बचाने का है न कितना अच्छा आइडिया?