कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत बेहतरीन प्रदर्शन कर रहा है. भारत के खिलाड़ी निशानेबाज़ी, कुश्ती, वेट लिफ़्टिंग समेत कई खेलों में गोल्ड, ब्रोंज़ और सिल्वर जीत चुके हैं. इन्हीं भारतीय खिलाड़ियों में से एक हैं निशानेबाज़ अनीश भनवाला, जिन्होंने सबसे कम उम्र में स्वर्ण पदक पर निशाना लगा लिया है. 15 वर्षीय अनीश ने 25 मीटर रैपिड फ़ायर पिस्टल फ़ाइनल्स में स्वर्ण पदक जीता है. अनीश ने 30 प्वाइंट बना कर आॅस्ट्रेलिया के 20 वर्षीय Sergei Evglevski को दो अंकों से हराया.

Timesnownews

TOI की रिपोर्ट अनुसार, अनीश का परिवार करनाल से फ़रीदाबाद शिफ़्ट हो चुका है, ताकि वो अनीश और उसकी बहन मुस्कान को बेहतरीन ट्रेनिंग दिला सके. अनीश की आगे की ट्रेनिंग में करीब एक लाख रुपये प्रति माह का ख़र्च आएगा, जिसके लिए उनके पिता उधार लेने को तैयार हैं.

Intoday

अनीश के कोच जसपाल राणा भी एशियन गेम्स 1994 के स्वर्ण पदक विजेता हैं. 

Indianexpress

स्वर्ण पदक जीतने के बाद, अब अनीश का अगला निशाना दसवीं के बोर्ड एग्ज़ाम हैं. CBSE ने अनीश के लिए एग्ज़ाम का ख़ास इंतज़ाम किया है. 16 अप्रैल को हिन्दी, 17 को सोशल स्टडीज़ और 18 को अनीश गणित की कठिन परीक्षा का सामना करने को तैयार हैं.

आॅल द बेस्ट अनीश!