हाल ही में लखनऊ में ड्राई फ़्रूट्स बेच रहे दो कश्मीरी युवकों को दो गुंड़ों ने बुरी तरह पीट कर घायल दिया था. सड़क किनारे कश्मीरी युवकों को पीटता देख जफ़र रिज़वी नाम के एक शख़्स ने बीच में हस्ताक्षेप कर उन युवकों को भीड़ से बाहर निकाल लिया. देखते ही देखते ही इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद से हर तरफ़ इस शख़्स की तारीफ़ हो रही है.  

India Today

हाल ही में टाइम्स ऑफ़ इंडिया की टीम ने जफ़र रिज़वी से बातचीत करने की कोशिश की और वो कामयाब रहे. टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बातचीत के दौरान रिज़वी ने कहा कि ‘मुझे हीरो मत बनाइए. अगर समाज में बदलाव चाहते हैं, तो आप भी किसी के लिए मददगार बनिए, जो भी ग़लत हो रहा है, उसके खिलाफ़ आवाज़ उठाइए.’ 

abp

इसके साथ ही उसने ये भी कहा कि अगर हम कश्मीरियों के साथ ग़लत करेंगे, तो इसका नुकसान सीमा पर सुरक्षा में लगे हमारे जवानों को उठाना पड़ेगा.  

वहीं घटना के बारे में बात करते हुए रिज़वी ने बताया कि वो अपने दोस्त के घर गोमती नगर जा रहे थे, तभी डालीगंज पुल पर उनकी नज़र उन दो कश्मीरी फेरीवालों पर पड़ी, जिन्हें भीड़ आतंकी समझ रही थी. इसके बाद रिज़वी ने मामले में दखल देते हुए भीड़ को समझाने की कोशिश की और कहा कि अगर वो लोग आतंकवादी होते, तो बमफ़ोड़ कर सभी लोगों को मार चुके होते. तब जाकर कहीं भीड़ का गुस्सा शांत हुआ और उन दोनों को बचाया जा सका.