इसे भगवान का चमत्कार नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे. ज़ेबरा और गधे के मेल से बने इस छोटे से 'ज़ॉन्की' को इसी ज़ेबरा ने पैदा किया है. ये चमत्कार केन्या के 'त्सावो नेशनल पार्क' में दिखने को मिला है.

Source: amarujala

दरअसल, ज़ेबरा और गधे के मेल से बने इस अद्भुत 'ज़ॉन्की' की तस्वीरें इन दिनों सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हो रही हैं. आप देख सकते हैं कि ज़ेबरा के इस बच्चे के पैरों पर ज़ेबरा की तरह सफ़ेद धारियां हैं, जबकि बाकी का शरीर बिल्कुल किसी गधे की तरह है.

Source: amarujala

'शेल्ड्रिक वाइल्ड लाइफ़ ट्रस्ट' ने अपने फ़ेसबुक पेज पर इस 'जॉन्की' की तस्वीरों को शेयर करते हुए बताया कि-

पिछले साल मई में शावो मोबाइल वेटनरी यूनिट को 'केडब्ल्यूएस कम्युनिटी वॉडर्न' ने बताया कि 'त्सावो नेशनल पार्क' से निकलकर एक ज़ेबरा पार्क की सीमा से लगे एक समुदाय में रह रहा था. इस दौरान ये ज़ेबरा अन्य मवेशियों के झुंड में ही रहने लगा था.

Source: ndtv

इस दौरान जब तक इस ज़ेबरा की कहानी स्थानीय मीडिया में प्रसारित नहीं हो गई. ये ज़ेबरा कई हफ़्तों तक यहीं रहा. इसके बाद 'त्सावो नेशनल पार्क' की इसे वापस पार्क में ले गई.

जनवरी माह में हमने ज़ेबरा के एक बच्चे को देखा, जो गधा और ज़ेबरा का मिश्रित रूप लग रहा था. पहले तो हमें लगा कि शायद कीचड़ लगने की वजह से उसकी धारियां नहीं दिख रही हैं, लेकिन बाद में हमें पता चला कि ये तो चमत्कार हुआ है. जिसके बाद हमने इसे 'जॉन्की' नाम दिया.

Source: ndtv

'शेल्ड्रिक वाइल्ड लाइफ़ ट्रस्ट' ने आगे बताया कि, ये ज़ेबरा मवेशियों के साथ रहने का अभ्यस्त हो गया था, इसलिए हमने उसे 'च्युलू नेशनल पार्क' के केन्जे एंटी पोचिंग टीम के पास भेज दिया, ताकि उस पर नज़र सही से नज़र रखी जा सके.