इंटरनेट पर आज इतनी फ़ेक न्यूज़ और फ़ोटोज़ ने अपनी जगह बना ली है कि मालूम ही नहीं पड़ता कि कौन-सी असली है और कौन-सी नकली. न्यूज़ का कारोबार ऐसा है कि उसे पकड़ना बहुत ही मुश्किल-सा जान पड़ता है, पर फ़ोटोज़ के मामले में ये चीज़ थोड़ी आसान है. चाइनीज़ सोशल मीडिया Weibo की एक यूज़र Kanahoooo अपनी कुछ ऐसी ही पोस्ट के ज़रिये लोगों में लोकप्रिय बनी हुई है. उसकी लोकप्रियता का आलम ये है कि लोग उसे 'Photoshop Holy' के नाम से पुकारते हैं. 430,000 फ़ॉलोवर्स वाली ये यूज़र एक फ़ोटोशॉप एडिटर हैं, जो सोशल मीडिया के लिए लोगों की तस्वीरों को फ़ोटोशॉप करती हैं. आज हम आपके लिए कुछ ऐसी ही तस्वीरें ले कर आये हैं, जो फ़ोटोशॉप तस्वीरों का भांडा फोड़ती हुई दिखाई देती हैं.

इसे ही कहते हैं मुस्कान की चमकान.

ब्यूटी पार्लर जाने से पहले और जाने के बाद.

इसलिए कहते हैं पैकेट देख कर गिफ़्ट का अंदाज़ा नहीं लगाया करते.

ओये कमाल हो गया गुरु.

बेचारे लड़के फ़ोटोशॉप को भी हक़ीक़त मान लेते हैं.

इसे ही कहते हैं असली ट्रांसफॉर्मेशन

आइला.

कोई तो रोक लो.

OMG.

हैं ये क्या था?

सादगी की सफारी.

बिना जिम जाए, करें अपना वजन कम.

कुछ चीज़ें कभी नहीं बदलती.

ये कुछ ज़्यादा हो गया.

ख़ूबसूरती छिपाये नहीं छिपती.

पार्लर के बाद लड़कियों का दूसरा शौक.

कमाल हो गया जी.

ऐसा भी हो सकता है क्या?

कई बार अपनी आंखों पर विश्वास नहीं होता.

शादी के लिए लड़की की भेजे जाने वाली तस्वीर

सब सोशल मीडिया की माया है.

जादू.

ताऊ ऐसे-कैसे?

ये बढ़िया था.

काश हम भी कुछ ऐसा कर पाते.

रंग में भरे रंग.

ये क्या हुआ? कैसे हुआ?

इतना चेंज.

ओ...ओ...ओ...

इसके लिए कुछ नहीं.

कौन कहता है लड़कियां मेकअप करती हैं?

बंदे में दम है.

कुदरत के करीब.

ऐसी लड़कियां हर किसी की फ्रेंड लिस्ट में होती हैं.

हा...हा...हा...

अब कहो छो क्यूट.

बंद आंखों से दिखती एक दुनिया.

हसीं धोखा.

बाबा रे बाबा, इसे क्या कहने का?

उफ़्फ़ ये अदा.

इतना कमाल, तो कोई फ़ोटोग्राफ़र ही कर सकता है.

सेल्फी मैंने ले ली यार.

आधार कार्ड और फ़ेसबुक की फ़ोटो में अंतर.

आओ बच्चों तुम्हें दिखाए झांकी फ़ोटोशॉप की.

इतना कैसे कर लेते हो भाई?

कहा था नाम से काम का अंदाज़ा मत लगाया करो.

बस इन मोहतरमा की कमी थी.

चंद लम्हों का चांद.

छोटा डॉन.

इसके पीछे ज़रूर किसी तगड़े सॉफ्टवेयर का हाथ है.

DSLR के बिना और उसके साथ एक तस्वीर

नए ख़्वाब सजाने को तैयार एक तस्वीर.

इतना एडिट कौन करता है भाई?

ओफफ़ो...

कौन कहता है झूठ ख़ूबसूरत नहीं होता?

घर और कॉलेज में ली गई तस्वीर.

अच्छा ये चक्कर है.

हुमंस ऑफ़ पटना.

पहले भी ठीक ही था यार.

दूल्हा बनी दुल्हन.

उदासी.

कुछ भी कहो लड़की में कॉन्फिडेंस, तो है.

ये मुस्कान किसी को ले न डूबे.

हैं अंकल आप भी!

कुछ चीजें हमेशा ख़ूबसूरत रहती हैं.

हर बार आंखें सही नहीं होती.

सेल्फी और सिर पर ताज. मिल गई ढिनचैक पूजा.

ये बैग पर फुल क्यों लगाते हैं?

रैपर अभि के गाने सुनती एक लड़की.

स्वैग वाली टोपी के बाद स्वैग वाला माइक.

सेल्फी क्वीन.

यही वो लड़की है, जो खाने के बाद भी मोटी नहीं होती.

ये क्या था?

ठंडे-ठंडे पानी से नहाना चाहिए.

किसी के हाथ न आएगी ये छतरी.

इन एडिटिंग सॉफ्टवेयर ने बहुत से लड़कों को धोखा दिया है.

कुछ न कहो, कुछ भी न कहो.

स्माइल प्लीज़.

कई बार कुछ न कहना भी समझा देता है.

ऊंची दूकान, फिका पकवान.

बेबी डॉल मैं सोने दी.

अमेरिका जाने से पहले और अमेरिका जाने के बाद.

बंदी ये बिंदास है.

ख़ुशबू को महसूस करती एक तस्वीर.

फ़ेयर एंड लवली का कमाल.

चश्मे वाली गर्ल.

सुनो कोई है?

इन जुल्फ़ों में खो जाने दो ऐ दोस्त.

उफ़्फ़ ये गर्मी सारा मेकअप ख़राब कर देता है.

क्या देखते हो? सूरत तुम्हारी...

पासपोर्ट साइज़ फ़ोटो...

आज ब्लू है पानी...पानी...पानी...

कसम उड़ान छल्ले की अब, तो किसी पर विश्वास नहीं.

चुनावों के बाद मिस गांधी...

खाने के लिए इतना ड्रामा.

ये भाई साहब हैं या बहन जी?

ये लड़कियां कभी सेल्फी लेने का मौका नहीं छोड़ती.

काला जादू...

भागो भूत...

किन्ना सोना, तेनु फ़ोटोशॉप ने बनाया

इसे कहते हैं गॉर्जिअस.

कॉलेज में पहला दिन.

ओ भाई साहब.

न आना इस देश में लाडो.

बेटा क्या मिलता है ये सब करके?

दिन के उजाले में रात के ख़्वाब.

इतना निखार!

मोनालिसा की आख़िरी तस्वीर.

Source: boredpanda