राष्ट्रपति, यानि देश का सर्वोच्च नागरिक. भले ही हमारे देश में राष्ट्रपति का काम कागज़ी दस्तख़तों तक सीमित हो, लेकिन इनका चुनाव तो पूरे देश की राजनीति को हिला ही देता है. भारत में वैसे भी राष्ट्रपति चुनावों को लेकर सरगर्मियां तेज हो ही जाती हैं. लेकिन क्या दूसरे देशों में भी राष्ट्रपति को चुनने की प्रक्रिया को इतना ही महत्व दिया जाता है? दुनिया के अलग-अलग देशों में आखिर कैसे चुने जाते हैं देश के सर्वोच्च नागरिक?आइए जानने की कोशिश करते हैं.

1. रूस

रूस में पिछला राष्ट्रपति चुनाव 2012 में हुआ था. अगला चुनाव 2018 में यानि, 6 साल बाद होगा. 2012 से पहले चुनाव हर 4 साल के बाद हुआ करते थे. यहां राष्ट्रपति चुनाव दो राउंड में होते हैं. अगर पहले राउंड में किसी भी उम्मीदवार को पूर्ण बहुमत नहीं मिला तो दूसरे राउंड में सबसे ज़्यादा वोट पाने वाले उम्मीदवारों के बीच टक्कर होगी.

Source: Alkhaleejonline

2. फ़्रांस

फ़्रांस में राष्ट्रपति चुनाव का तरीका भी रूस जैसा ही है. यहां, राष्ट्रपति को सीधे देश के नागरिक चुनते हैं. अपने पसंदीदा उम्मीदवार के नाम की पर्ची के पीछे लोग X लिखकर वोट करते हैं. अगर किसी भी उम्मीदवार को पूर्ण बहुमत नहीं मिलता है तो यहां सबसे ज़्यादा वोट पाने वाले दो उम्मीदवारों के बीच दोबारा मुकाबला होता है. फ़्रांस में इसी साल अप्रैल में राष्ट्रपति चुनाव हुए हैं जिसमें इमैनुअल मैक्रॉन राष्ट्रपति निर्वाचित हुए हैं.

Source: Xaysnews

3. पाकिस्तान

भारत के इस पड़ोसी के यहां राष्ट्रपति को चुनने की प्रक्रिया भी लगभग भारत जैसी ही है. यहां भी राष्ट्रपति Indirect Election द्वारा चुना जाता है. इसके लिए संसद के दोनों सदनों और राज्यों की विधानसभा के सदस्य वोट करते है.

Source: Dailypakistan

4. अमेरिका

अमेरिका में पिछले साल हुए राष्ट्रपति चुनाव ने दुनिया भर की मीडिया में जगह बनाई थी. यहां पहले वोट डालने के योग्य वोटर्स, एक Electoral College का चुनाव करते हैं. Electoral College के सदस्यों को Electors कहते हैं. इसके बाद Electors राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के लिए वोट डालते हैं.

Source: Slate

5. इराक़

इराक़ के राष्ट्रपति के नाम पर सबसे पहला नाम सद्दाम हुसैन का ही कौंधता है. अमेरिका के साथ भीषण युद्ध की मार झेल चुके इराक़ के राष्ट्रपति फ़वाद मासूम हैं. यहां Council of Representatives ( विधायिका) के सदस्य दो तिहाई बहुमत से राष्ट्रपति का चुनाव करते हैं.

Source: Aljazeera

6. नेपाल

नेपाल 2008 में ही गणराज्य बना है. राम बरन यादव यहां के पहले राष्ट्रपति थे. इस देश को गणराज्य बने अभी 10 साल भी पूरे नहीं हुए हैं और नेपाल को अपनी पहली महिला राष्ट्रपति मिल गई है. वर्तमान में विद्या देवी भंडारी नेपाल की राष्ट्रपति हैं. राष्ट्रपति का चुनाव नेपाल में भी भारत के समान ही होता है, यानि, इसमें संसद के सदस्य और राज्यों के विधानसभा सदस्य हिस्सा लेते हैं.

Source: Indiatimes

7. दक्षिण अफ़्रीका

दक्षिण अफ़्रीका में राष्ट्रपति का चुनाव, संसद के निचले सदन के सदस्य करते हैं. 1994 में पहली बार ग़ैर-नस्लभेदी राष्ट्रपति चुनाव हुए थे. इसके बाद से ज़्यादातर मौकों पर अफ़्रीका की सबसे बड़ी पार्टी अफ़्रीकन नेशनल कांग्रेस के नेता ही राष्ट्रपति बनते आए हैं. ये चुनाव मुख्य न्यायाधीश की निगरानी में होता है. 1994 में नए संविधान के लागू होने के बाद ही नेल्सन मंडेला दक्षिण अफ़्रीका के पहले राष्ट्रपति बने थे. वर्तमान में ये पद जैकब ज़ुमा के नाम है.

Source: Inyarwanda

8. मिस्त्र

मिस्त्र ने पिछले कुछ सालों में कई बार राजनीतिक संकट का सामना किया है. 2005 और 2007 में हुए संविधान संशोधन के बाद अब वहां राष्ट्रपति सीधे नागरिकों द्वारा वोटिंग से चुने जाते हैं. इससे पहले ये चुनाव दो चरणों में होता था. पहले चरण में संसद की निचली सदन के सदस्य राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को मनोनीत करते थे. उसे सदन का दो-तिहाई बहुमत हासिल करना होता था. इसके बाद, दूसरे चरण में जनमत संग्रह होता था.

Source: Rssing