कोई कितनी भी गहरी नींद में सोता हो, लेकिन रात में एक समय ऐसा आता है, जब हर किसी की नींद टूट जाती है. हमें लगता है कि इसका कारण आस-पास हुई आवाज़ या हलचल होती है, लेकिन चीन की एक पद्धती की मानें, तो नींद टूटने का वक़्त आपके शरीर के किसी हिस्से के ख़राब होने का संकेत है. जिसे अनदेखा करना आपको किसी ख़तरे की तरफ़ ले जा सकता है.

अगर रात 9 बजे से 11 बज़े के बीच नींद नहीं आती.

ज़्यादातर लोग इस वक़्त सोने जाते हैं. लेकिन बिस्तर पर जाते ही नींद जैसे गायब हो जाती है. इसका कारण है कि आपको दिन की समस्याओं ने अभी भी परेशान किया हुआ है. आपका दिमाग अभी भी अपने काम को भूल नहीं पाया है. ये अनिद्रा की शुरुआत हो सकती है. इसका सबसे बेहतरीन इलाज है कि आप सोने से पहले कुछ देर ध्यान लगाएं और फिर बिस्तर पर जाएं.

अगर 11 से 1 बजे के बीच आंख खुले.

इस वक़्त नींद टूटने का कारण है कि आप अपने या अपने किसी खास के बारे में सोच कर परेशान हैं. अकसर इस वक़्त आंख उन लोगों की खुलती है, जो अपने प्यार में नाकाम रहे हैं. अपने रिश्ते का कारण उन्हें कभी अपनी गलती और कभी अपने पार्टनर की लगती है. जो बीत गया उसे भूल जाएं, यही इसका इलाज है.

अगर नींद 1 से 3 बजे के बीच खुले.

अगर रात 1 से 3 बजे के बीच आंख खुले, तो आपका लीवर सही काम नहीं कर रहा है. साथ ही आपके शरीर की ताकत खुद को बैलेंस नहीं कर पा रही. आपके अंदर का गुस्सा, पछतावा जैसी चीज़ें आपको सोने नहीं दे रहीं, तो खुद को शांत करिये और कोशिश करिए कि बुरे ख़याल मन में न आए.

अगर नींद 3 से 5 बजे के बीच खुले.

चीनी पद्धती के अनुसार, इस समय पर फेंफड़े सबसे सही तरीक से काम करते हैं. लेकिन आपकी आंख अगर इस वक़्त खुल रही है, तो ये सही संकेत नहीं है. शरीर आगाह कर रहा है कि आपको सांस लेने की समस्या है या आपके फेंफड़े सही तरीके से काम नहीं कर रहे.

अगर नींद 5 से 7 बजे के बीच खुले.

अकसर लोग इस वक़्त पर उठना अच्छा मानते हैं, लेकिन चीन में इस वक़्त पर उठने वाले लोगों की सेहत पर सवाल उठाए जाते हैं, चीनी पद्धती के अनुसार, इस वक़्त शरीर पिछले दिन की गंदगी को एकत्रित कर रहा होता है, अगर इस वक़्त आंख खुले, तो शरीर को इसमें समस्या हो रही है और शरीर अच्छे से अपने इस काम को अंजाम नहीं दे पा रहा होता है.

शरीर हमें हर बीमारी से अवगत कराता है, लेकिन कई बार जानकारी न होने की वजह से हम इसे समझ नहीं पाते. लेकिन चीन की इस पद्धती को जानने के बाद अब हम अपने शरीर को बेहतर जान पाएंगे और समय से इसका इलाज भी खोज सकते हैं.

Art By: Shruti