'आदमी 5 रुपये में भर पेट खाना खा सकता है'

कुछ साल पहले बॉलीवुड एक्टर और कांग्रेस नेता राज बब्बर ने ये बयान देकर मार्केट में बवाल मचा दिया था. आज के दौर में ऐसा संभव है क्या भला? ज़ाहिर सी बात है, जवाब 'नहीं' है. मंहगाई आसमान छू रही और आम आदमी मज़बूरी और तंगी में ज़िंदगी गुज़र-बसर कर रहा है.

Source : patrika

खाने-पीने की चीज़ें हों या फिर बच्चों की पढ़ाई-लिखाई हर तरफ़ मंहगाई की मार है. पहले जहां 500 रुपये में हफ़्ते भर का ख़र्च चल जाता था, तो वहीं अब ये पैसे दो दिन चल जाएं बहुत बड़ी बात है. मंहगाई का हाल तो आप जानते ही हैं, लेकिन आज भी एक चीज़ ऐसी है जिसकी क़ीमत पर मंहगाई का कोई असर नहीं पड़ा. वो तब भी 5 रुपये में मिलता था और आज भी.

Source : imimg

अब ज़्यादा परेशान न करते हुए बता ही देते हैं कि हम बात कर रहे हैं 5 रुपये वाले Reynolds पेन की, जो आज भी 5 रुपये का मिलता है. देखा जाए तो, ये पेन अर्थशास्त्रियों और सेल्स वालों के लिए एक रिसर्च का विषय होना चाहिए. पिछले 28 सालों में मंहगाई आसमान छू गई है, लेकिन ये पेन अब भी 10 रुपये से कम में बिक रहा है. इसके अलावा ध्यान देने वाली बात ये है कि इसकी क्वालिटी से भी समझौता नहीं किया गया है.

Source : fourniturescolaires

हम में से कम से कम 80 प्रतिशत लोग ऐसे होंगे, जो इसी पेन से अपना स्कूल होमवर्क निपटाते थे, यहां तक कि एक्ज़ाम भी इसी पेन से देते थे. है न? सोचो-सोचो आखिर इस पेन पर मंहगाई का कोई असर क्यों नहीं पड़ा?

अगर आपको भी Reynolds से लिखना पसंद था, तो कमेंट में अपने दिल की बात कह सकते हैं.