जब भी जंग होती है, तो उसका असर आम लोगों पर भी होता है. शहर के शहर तबाह हो जाते हैं, लाशों के ढेर लग जाते हैं. ऐसा ही भयानक था दूसरा विश्वयुद्ध, जिसके नुकसान की भरपाई करना मुमकिन न हो सका. आप कल्पना भी नहीं कर सकते उस मंज़र की, जिसे तस्वीरों में कैद किया है W. Eugene Smith ने. इन्हें देख हर वो इंसान सिहर जाएगा, जिसके अन्दर ज़रा सी भी संवेदना बची है.

Smith को Flying Magazine में 1943 में बतौर वॉर फ़ोटोग्राफ़र रखा गया था. वो अमरीकी सेना के साथ रहे और जापान के खिलाफ़ चल रहे युद्ध के प्रत्यक्षदर्शी बने. उनका कहना था कि एक तस्वीर इंसान को बहुत कुछ महसूस करवाने की ताकत रखती है.

1. 1944: जापान की गुफ़ाओं की सफ़ाई के समय निकला एक नन्हें बच्चे का शव.

2. 1944: US सिपाही एक ज़ख़्मी सिपाही को ले जाते हुए.

3. एक हमले के बाद बिछा लाशों का ढेर.

4. Saipan के गांव में बच्चे को पीठ पर लाद कर ले जाती लड़की.

5. घायल सैनिक के साथ एक नर्स.

6. 1944: अमरीकी विमान वाहक जहाज़ के पास पानी में गिरा बम.

7. 1945: अमरीकी सैनिक Terry Moore सिगरेट फूंकते हुए.

8. प्रार्थना करता एक घायल सैनिक.

9. 1944: विमानों के मलबे के पास से गुज़रते सैनिक.

10. अमरीकी सेना का कब्रिस्तान, जहां Iwo Jima के युद्ध के दौरान दफ़नाए गए थे सैंकड़ों सैनिक.

11. इलाज के लिए भेजा जाता एक सैनिक.

W. Eugene Smith की मृत्यु 1978 में हो गयी थी, लेकिन उनकी ली ये तस्वीरें आपको आज भी अतीत के उस काले दौर में ले जाती हैं, जहां खून की नदियां बहायी गयी थीं.

Source: Thesun