क्रिकेट(Cricket) के मैदान में कई बार बॉलर्स तय सीमा से अधिक का कोण बनाकर गेंदबाज़ी कर देते हैं. नियमों के अनुसार, गेंदबाज़ सिर्फ़ 15 डिग्री के एंगल तक ही हाथ मोड़ सकता है. अगर वो इससे ज़्यादा है तो उस बॉलर को International Cricket Council(ICC) बैन कर देती है. इतिहास में कई बार बॉलर्स को इस तरह के बैन का सामना करना पड़ा है.


कुछ ने इसे सुधार कर फिर से वापसी की तो कुछ हमेशा-हमेशा के लिए बैन हो गए. चलिए जानते हैं ग़लत एक्शन यानी ग़लत एंगल पर गेंदबाज़ी करने के लिए बैन या विवाद का सामना कर चुके क्रिकेटर्स के बारे में…

ये भी पढ़ें: दुनिया के सबसे 'कंजूस बॉलर' बापू नाडकर्णी का निधन, फेंके थे लगातार 21 मेडेन ओवर 

1. मोहम्मद हसनैन 

पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद हसनैन(Muhammad Hasnain) पर ICC ने हाल ही में बैन लगाया है. उन्हें ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग में ग़लत एक्शन के साथ बॉलिंग करते हुए देखा गया था. इस बहुत से क्रिकेटर्स ने आपत्ति दर्ज की थी, जिसके बाद आईसीसी ने उन्हें बैन कर दिया. 

Muhammad Hasnain
Source: arynews

2. मुथैया मुरलीधरन 

श्रीलंका के बेस्ट स्पिनर रहे मुथैया मुरलीधरन को भी अपने ग़लत बॉलिंग एक्शन के लिए विवाद में आ गए थे.1995 में मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ टेस्‍ट मैच के दौरान मुरलीधरन की कई गेंद को अंपायर ने अयोग्य बताया था. बाद में उनके एक्शन की जांच भी हुई थी.

muttiah muralitharan
Source: sportzwiki

3. शोएब अख़्तर 

दुनिया के सबसे तेज़ गेदबाज़ों में शामिल पाकिस्तानी बॉलर शोएब अख़्तर भी बैन झेल चुके हैं.1999 में पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ टेस्‍ट मैच के दौरान उनका बॉलिंग एक्‍शन ग़लत पाया गया और उन पर 1 महीने का बैन लगा. इसके बाद उन पर 2001 में भी बैन लगा था.

Shoaib Akhtar
Source: ccusa

4. हरभजन सिंह 

टर्बनेटर के नाम से मशहूर फ़ेमस इंडियन बॉलर हरभजन सिंह की बॉलिंग पर भी सवाल उठे थे. 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ़ टेस्ट मैच में उनके बॉलिंग एक्शन की शिकायत की गई थी. तब उन्हें परीक्षण से गुज़रना पड़ा था. उनको बैन तो नहीं किया गया मगर उन्हें अपना बॉलिंग एक्शन सुधारना पड़ा था.

harbhajan singh
Source: sportzwiki

ग़लत बॉलिंग एक्शन

5. प्रज्ञान ओझा 

2014 में एक मैच के दौरान BCCI ने इंडियन बॉलर ग़लत बॉलिंग एक्शन के लिए बैन कर दिया था. इसके बाद उन्होंने चेन्नई के क्रिकेट सेंटर में अपने बॉलिंग एक्शन पर काम किया. उसे सुधार कर ओझा ने जनवरी 2015 में क्लीन चिट ले ली थी.

pragyan ojha
Source: news18

6. शिखर धवन

इंडियन टीम के गब्बर यानी शिखर धवन भी पार्ट-टाइम बॉलर हैं. 2015 में इनकी बॉलिंग पर भी सवाल उठे थे. ये पार्ट-टाइम बॉलर थे तो इसलिए उन्होंने बॉलिंग छोड़ कर अपनी बैटिंग पर ज़्यादा फ़ोकस करना शुरू कर दिया.

shikhar dhawan bowling
Source: thecricketer

7. अंबाती रायडू 

2019 में अंबाती रायडू ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ वनडे मैच में बॉलिंग कर रहे थे. तब उन्हें चकिंग(Chucking) के लिए बुलाया गया था. उनका बॉलिंग एक्शन संदिग्ध पाया गया, तब से उन्हें गेंदबाज़ी करने से रोक दिया गया था.

ambati rayudu
Source: theweek

8. सैय्यद किरमानी 

इंडिया के बेस्ट विकेटकीपर्स में से एक हैं सैय्यद किरमानी. ये 83 में वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम का हिस्सा थे. 1983 में एक मैच के दौरान इनकी गेंदबाज़ी भी संदिग्ध पाई गई थी. तब से इन्होंने भी बॉलिंग से किनारा कर लिया था.

syed kirmani bowling
Source: amazon

9. शब्बीर अहमद 

पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ शब्बीर अहमद भी ग़लत एक्शन के कारण बैन झेल चुके हैं. 2005 में उनकी गेंदबाज़ी पर सवाल उठे थे, जिसके बाद आईसीसी ने उन पर 12 महीने का बैन लगा दिया था. ग़लत बॉलिंग एक्शन के कारण इन पर लगा बैन कभी हटा ही नहीं.

Shabbir Ahmed Khan
Source: espncricinfo

10. जोहान बोथा 

दक्षिण अफ़्रीका टीम के ऑफ़ स्पिनर जोहान बोथा भी इस लिस्ट में शामिल हैं. उन्हें ग़लत एक्शन के लिए 2006 में अंतरराष्ट्रीय मैचों में गेंदबाज़ी से बैन कर दिया गया था. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ टेस्ट मैच में उनके एक्शन पर सवाल उठे थे.

Johan Botha
Source: dnaindia

इन बॉलर्स में से कुछ ने सुधार कर वापसी की तो कुछ ने हमेशा के लिए बॉलिंग छोड़ दी.