वीवीएस लक्ष्मण को एक ऐसे क्रिकेटर के रूप में याद किया जाता है, जो कभी भारतीय टीम के लिए संकटमोचक बनकर मैदान में उतरते थे. उन्होंने बुधवार को एक ट्वीट किया और बताया कि रियल लाइफ़ वो किससे प्रेरणा ले रहे हैं.

वीवीएस ने अपने ट्वीट में कानपुर के एक चायवाले का ज़िक्र किया है. ये अपनी कमाई का 80 फ़ीसदी हिस्सा ग़रीब बच्चों की पढ़ाई पर कर रहे हैं. लक्ष्मण ने उनके बारे में बताते हुए लिखा कि इनसे बड़ी प्रेरणा और क्या होगी.

Source: sportskeeda

लक्ष्मण अपने ट्वीट में लिखते हैं- 'ये हैं मोहम्मद महबूब मलिक, जो कानपुर में एक चाय की दुकान चलाने के साथ ही 40 बच्चों की पढ़ाई का भी ख़र्च उठाते हैं. ये अपनी कमाई का 80 फ़ीसदी हिस्सा उनकी पढ़ाई पर ख़र्च करते हैं. इनसे बड़ी प्रेरणा क्या होगी.'

लक्ष्मण के इस ट्वीट को लोग पसंद कर रहे है और कमेंट बॉक्स में मलिक की इस नेक काम में मदद करने की बात कह रहे हैं. आप भी देखिए:

एनडीटीवी कि एक रिपोर्ट के मुताबिक, मोहम्मद मलिक कानपुर के शारदा नगर में एक स्कूल चलाते हैं. इस स्कूल में वो फ़िलहाल 40 बच्चों को मुफ़्त में पढ़ा रहे हैं. साथ ही उनकी किताबों और युनिफ़ॉर्म का भी ख़र्च वही वहन करते हैं. इन्होंने इस स्कूल की शुरुआत साल 2015 में की थी.

उन्होंने इस बारे में बात करते हुए कहा- ‘मेरा जीवन बहुत ही ग़रीबी में बिता. इसके चलते मैं 10वीं तक की पढ़ाई भी नहीं कर पाया. अन्य ग़रीब बच्चों के साथ ऐसा न हो इसलिए मैं ये स्कूल चला रहा हूं, ताकि वो अपनी पढ़ाई पूरी कर सकें.’

मलिक एक एनजीओ मां तुझे सलाम की मदद से इस स्कूल को चला रहे हैं. वाकई में मलिक मोहम्मद हर किसी के लिए प्रेरणा हैं.

Sports के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.