क्रिकेट की दीवानगी अपने देश में किसी से छुपी नहीं है. ये खेल इतना लोकप्रिय है कि इसे अपने देश में 'धर्म' की संज्ञा दी जाती है. आज सब तेज़ी से बदल रहा है और क्रिकेट भी इस बदलाव से अछूता नहीं है. वन-डे और टी-20 ने पूरा खेल ही बदल दिया और IPL जैसी प्रतियोगिताएं इसमें ग्लैमर जोड़ती हैं. लेकिन इन सब के बात भी सच्चे क्रिकेट प्रेमी इस बात पर ज़रूर सहमत होंगे कि असली क्रिकेट तो टेस्ट में ही खेला जाता है.

Test Match
Source: flickr

ये भी पढ़ें: आपके पसंदीदा खेल, क्रिकेट के इतिहास की झलकियां देखिये इन 100 तस्वीरों में

अगर टेस्ट क्रिकेट के इतिहास की बात करें तो ऐसा माना जाता है कि पहला ऑफ़िशियल टेस्ट 15 मार्च 1877 को खेला गया था और यह मैच इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलियाई के बीच हुआ था. मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) में खेले गए इस मैच की सबसे मज़ेदार बात ये थी कि इस मैच के दिन नहीं तय थे, बस ये तय था कि दोनों टीमें दो-दो पारियां खेलेंगी. यह मैच 15 से 19 मार्च तक चला था, हालांकि 3 दिन के मैच के बाद 18 मार्च को रेस्ट डे रखा गया था. इस मैच को देखने के लिए क़रीब 12,000 लोगों की भीड़ जुटी थी.

First test match ever
Source: twitter/FlashCric

ये भी पढ़ें: क्रिकेट इतिहास के वो 10 यादगार लम्हें, जिनके बारे में हर क्रिकेट फ़ैन को जानना चाहिए

इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीता था और चार्ल्स बैनरमैन की 165 रन की पारी के चलते कुल 245 रन बनाए. इसी के साथ बैनरमैन टेस्ट क्रिकेट में शतक लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए थे. इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम 196 रन पर ही सिमट गयी. दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया ने सिर्फ़ 104 रन ही बनाये. दूसरी पारी में इंग्लैंड के पास 154 रन का टारगेट था मगर इंग्लैंड 108 रन ही बना पायी और ऑस्ट्रेलिया दुनिया का पहला टेस्ट मैच जीत गया.

इस मैच में इंग्लैंड के जेम्स साउदरटन टेस्ट क्रिकेट खेलने की शुरुआत की थी. साउदरटन की उम्र उस समय 49 साल 119 दिन थी. इस उम्र में पहला टेस्ट खेलने का रिकॉर्ड आज भी साउदरटन के पास ही है. इस टेस्ट मैच की 100 वीं वर्षगांठ पर दोनों टीमों ने एक ही स्थान पर फिर से एक दूसरे का सामना किया और मज़ेदार बात ये रही कि ऑस्ट्रेलियाई टीम ने इस बार भी इस टेस्ट मैच को 45 रनों के अंतर से जीत लिया.

इस मैच का स्कोरकार्ड आप यहां क्लिक करके देख सकते हैं.