वर्ल्ड फ़ुटबॉल को मैनेज करने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था FIFA ने कुछ दिनों पहले All India Football Federation (AIFF) को बैन कर दिया था. इसके पीछे उन्होंने तीसरे पक्ष का अनुचित हस्तक्षेप का कारण बताया था. नियमों के मुताबिक, फ़ीफ़ा के किसी भी सदस्य संघ में राजनीतिक या क़ानूनी हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए.

फ़िलहाल AIFF इस बैन को हटवाने के लिए पूरी कोशिश में जुटा हुआ है. वैसे भारत पहला देश नहीं है जिसे FIFA ने तीसरे पक्ष के दखल के चलते बैन कर दिया हो. इससे पहले भी कई देश ये दंश झेल चुके हैं. चलिए जानते हैं कुछ ऐसे ही देशों के बारे में…

ये भी पढ़ें: करोड़ों के बंगले, फ़ुटबॉल टीम के मालिक, भारतीय क्रिकेट के बॉस सौरव गांगुली हैं अमीरों के अमीर

1. इराक़ (Iraq)

iraq football team
wikimedia

2008 में फ़ीफ़ा ने सभी खेल संघों और ओलंपिक समिति को भंग कर दिया था. वजह थी उनके संचालन में सरकारी दखल. इस बैन को 2010 में हटाया गया था.

2. कुवैत (Kuwait)

Goalzz

कुवैत पर अलग-अलग कारणों से तीन बार 2007, 2008 और 2015 में बैन किया गया था. 2017 में इस पर से बैन हटा था.

3. नाइज़ीरिया (Nigeria)

2014 में एक कार्यकारी समिति और नाइज़ीरियाई अदालत ने एक सिविल सेवक को फे़डरेशन चलाने के लिए बुलाया था. क्योंकि उस वक़्त उनकी टीम कुछ अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही थी. ये बात जैसे ही फ़ीफ़ा को पता चली तो उन्होंने नाइज़ीरिया पर बैन लगा दिया. हालांकि, 10 दिनों बाद ही ये प्रतिबंध हटा दिया गया था.

4. इंडोनेशिया (Indonesia)

Football Tribe

FIFA ने इंडोनेशिया पर 2015 में बैन लगाया था. उस समय इंडोनेशिया की सरकार ने फ़ुटबॉल एसोसिएशन को भंग कर अपनी एक समिति से रिप्लेस कर दिया था.

5. ग्वाटेमाला (Guatemala)

BBC

फ़ीफ़ा ने अक्टूबर 2016 में ग्वाटेमाला पर प्रतिबंध लगा दिया जब फु़टबॉल महासंघ के निदेशकों ने समिति को ये कहते हुए मान्यता देने से इनकार कर दिया कि ये देश के क़ानूनों के ख़िलाफ है. 2018 में बैन हटा लिया गया था.

6. पाकिस्तान (Pakistan)

Pakistan football team
Sport360

FIFA ने पाकिस्तान पर दो बार बैन लगाया था. 2017 में Pakistan Football Federation (PFF) को तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप के चलते बैन किया गया. अगले साल ये प्रतिबंध हटा. 2021 में फिर से PFF को बैन कर दिया गया. इस अनधिकृत तरीके से फ़ेडरेशन पर तीसरे पक्ष ने कब्ज़ा कर लिया था. ये प्रतिबंध 2022 में हटा.

7. बेनिन (Benin)

Sky Sports

2016 में यहां के फ़ुटबॉल फ़ेडरेशन के चुनाव में एक न्यायिक निकाय के हस्तक्षेप के चलते फ़ीफ़ा ने बैन लगाया. 1 महीने बाद इस प्रतिबंध से इसे छुटकारा मिल गया था.

8. ज़िम्बाब्वे (Zimbabwe)

Zimbabwe Football Association पर जब इस साल सरकार ने अपना कंट्रोल छोड़ने से इनकार कर दिया तो फ़ीफ़ा ने इन्हें प्रतिबंधित कर दिया. ये प्रतिबंध अभी भी जारी है.

9. केन्या (Kenya)

Sports Brief

2022 में केन्या पर भी बैन लगा था. यहां भी इस देश को तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप के कारण प्रतिबंधित किया गया. ये बैन अभी भी जारी है.