Google, अपने वीडियो मीटिंग प्लेटफ़ॉर्म Google Meet के लिए एक नई सुविधा शुरू कर रहा है, जो डेस्कटॉप यूज़र्स को वीडियो कॉन्फ़्रेंस के दौरान उसकी खुद की इमेज भी बैकग्राउंड में सेट करने की अनुमति देगा. प्लेटफॉर्म ने डिफॉल्ट इमेज का एक सेट पेश किया है, जिन्हें वीडियो कॉलर बैकग्राउंड इमेज के तौर पर सेट कर सकते हैं.

Source: thegreaterindia

ये सुविधा वर्तमान में मीट के वेब क्लाइंट तक सीमित है और गूगल मीट मोबाइल एप यूज़र्स को कुछ समय बाद ये सुविधा मिलने की उम्मीद है.

बैकग्राउंड इमेज चेंज करने के ऑप्शन के साथ यूज़र्स Google की अपनी लाइब्रेरी से छवियां चुन सकते हैं, जिसमें ऑफिस स्पेस, लैंडस्केप और एब्सट्रैक्ट बैकड्राप शामिल हैं. इसके साथ ही यूज़र्स को उसकी ख़ुद की इमेज भी बैकग्राउंड में सेट करने की सुविधा मिलेगी.

Source: indiatvnews

Google ने 31 अक्टूबर को अपने एक ब्लॉग पोस्ट के ज़रिए इस नई सुविधा का एलान किया है. कंपनी का कहना है कि बैकग्राउंड चेंज करने का विकल्प डिफ़ॉल्ट रूप से बंद है और Google Meet यूज़र्स को इसे मैन्युअल रूप से चालू करना होगा.

कैसे करेगा काम?

यदि आप वीडियो कॉल से पहले बैकग्राउंड बदलना चाहते हैं, तो गूगल मीट पर जाकर मीटिंग चुनें और फिर स्क्रीन के नीचे दाईं ओर बैकग्राउंड का चयन करें. आप उसके बाद मीटिंग में शामिल हो सकते हैं. 

Source: thehindubusinessline

वीडियो कॉल के दौरान बैकग्राउंड चेंज करने के लिए नीचे दाएं कोने पर स्थित More ऑप्शन (तीन बिंदु) पर क्लिक करें और फिर बैकग्राउंड चेंज पर क्लिक करें. प्री-अपलोडेड बैकग्राउंड के लिए लिस्टेड ऑप्शन में से किसी एक को चुने सकते हैं. बैकग्राउंड पर ख़ुद का फोटो लगाने के लिए एड पर क्लिक करें.

गूगल ने बताया कि जब आप इस ऑप्शन को चुनते हैं तो आपका कैमरा अपने आप ऑन हो जाएगा. गूगल ने ये भी बताया कि बैकग्राउंड बदलने से आपका डिवाइस धीमा हो सकता है.

Source: techaedgar

Google का कहना है कि कस्टम बैकग्राउंड फ़ीचर सीधे ब्राउज़र के अंदर काम करता है और इसके लिए किसी एक्सटेंशन या किसी अतिरिक्त सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता नहीं होती है. कंपनी ने बताया कि कस्टम बैकग्राउंड ऑप्शन ChromeOS, Windows पर Chrome browser और Mac desktop डिवाइस पर काम करेगा.

ये सुविधा Google के नियमित यूज़र्स के साथ-साथ Google कार्यक्षेत्र (पहले G सूट) और एंटरप्राइज़ ग्राहकों के लिए उपलब्ध है. रोल आउट के पूरा होने की उम्मीद 6 नवंबर तक है. हालांकि, ये सुविधा एजुकेशन कस्टमर्स द्वारा आयोजित की जा रही मीटिंग के प्रतिभागियों के लिए उपलब्ध नहीं होगी.