भारतीयों ने इस साल अक्टूबर में 17 लाख अधिक चीनी मोबाइल ख़रीदे हैं. ये हाल तब है, जब भारत-चीन सीमा पर तनाव के बीच देश में चाइनीज़ कंपनीज़ का बहिष्कार चल रहा है. सरकार ने भी क़रीब 200 चाइनीज़ एप पर बैन लगा दिया और ‘आत्मनिर्भर भारत’ का अभियान ज़ोर-शोर से चल रहा है. 

Source: venturebeat

टेक मार्केट एनालिस्ट फर्म IDC के मुताबिक, भारत के स्मार्टफ़ोन बाज़ार ने सालाना आधार पर अक्टूबर में 42 फ़ीसदी की भारी-भरकम बढ़ोतरी दर्ज की, इस दौरान 21 मिलियन यूनिटों की शिपिंग हुई.

ऐसा लगता है कि अक्टूबर 2019 और अक्टूबर 2020 के दौरान भारत में ऑनलाइन बिकने वाले शीर्ष पांच मोबाइल ब्रांडों में से चार चीनी कंपनियां Xiaomi, Vivo, Realme, और Oppo हैं.

Source: indiatvnews

भारत में इस साल अक्टूबर में चीनी ब्रांड ने क़रीब 63.01 लाख स्मार्टफ़ोन बेचे हैं, जबकि इसी अवधि में पिछले साल अनुमानित तौर पर 46.07 लाख स्मार्टफोन बेचे गए थे. यानि इस साल अक्टूबर में क़रीब 17 लाख अधिक चीनी मोबाइल भारत में बेचे गए. इस संख्या का अनुमान स्मार्टफ़ोन बाज़ार विश्लेषक द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के आधार पर लगाया गया है.

Source: indiatimes

ज़ाहिर तौर पर देश में एंटी चाइना सेंटीमेंट होने के बाद भी चीनी ब्रांड्स की बिक्री बढ़ रही है. इसके पीछे वजह चीनी स्मार्टफ़ोन का पॉकेट फ़्रेंडली होना ही है. किफ़ायती दाम के साथ ही चीनी ब्रांड्स बेहतर स्मार्टफ़ोन्स की भी पेशकश करते हैं. ऐसे में आगे इन ब्रांड्स की बिक्री में कोई कमी होने की संभावना इन आंकड़ों को देखकर तो नज़र नहीं ही आती है.