दुकान में हिसाब-किताब करता दुकानदार हो या फिर गणित के किसी सवाल में जोड़, घटाना, गुणा और भाग करता छात्र. कैलकुलेटर किसी भी बड़ी से बड़ी संख्या को चुटकी में हल करने में अहम भूमिका निभाता है. कैलकुलेटर में जोड़, घटाना, गुणा और भाग के अलावा भी कई ऐसे बटन होते हैं जिनके बारे में हमें कोई जानकारी नहीं होती. इन बटनों को हम में से अधिकतर लोग नज़रअंदाज़ कर देते हैं. 

Source: amazon

हिसाब-किताब के दौरान आपने अक्सर कैलकुलेटर का काफ़ी इस्तेमाल किया होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं MS, MR, MC, M+, M-, C और CE का बटनों क्या मतलब होता है और ये कैसे काम करते हैं? 

चलिए ये भी जान लेते हैं-

MS (Memory Store): हिसाब-किताब के दौरान जिस भी नंबर की बार-बार ज़रुरत पड़ती है उसे एक बार लिख कर MS दबा दें. इसके बाद वो नंबर कैलकुलेटर की मैमरी में ख़ुद ब ख़ुद सेव हो जायेगा और आपको बार बार नंबर को टाइप करने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.

M R (Memory Recall): इस बटन को प्रेस करने से सेव किया हुआ नंबर इन्सर्ट हो जायेगा.

MC (Memory Clear): इसे बटन को प्रेस करने से सेव किया हुआ नंबर मेमोरी से रिमूव हो जायेगा और आप किसी अन्य नंबर को सेव कर पाएंगे.

Source: google

इसके अलावा कैलकुलेटर में (M+) और (M-) नाम के भी दो महत्वपूर्ण बटन भी होते हैं जो MS, MR और MC को सपोर्ट करने का काम करते हैं.

M+ : MS द्वारा सेव किये गए नंबर में कोई संख्या जोड़ने के लिए (M+) दबाना पड़ता है.


M- : MS द्वारा सेव किये गए नंबर में ही कोई सख्या घटाने के लिए (M-) दबाना पड़ता है.   

Source: wikipedia

इसी तरह C और CE भी कैलकुलेटर के दो अहम बटन होते हैं. हालांकि, अधिकतर लोगों को इनकी जानकारी होती है. इन दोनों ही बटनों का इस्तेमाल हम कैलकुलेटर में एंटर की गयी संख्या या अंक को मिटाने के लिए करते है. फिर भी इन दोनों में एक मामूली सा अंतर है. 

हिसाब किताब के दौरान CE बटन दबाने से अंतिम इनपुट हट जायेगा, जबकि C बटन दबाने से स्क्रीन से पूरा इनपुट मिट जाएगा और जीरो आ जाएगा. 

Source: google

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो कमेंट ज़रूर करें.