देश चाहे कितनी ही तरक्की क्यों न कर ले, लेकिन कुछ लोगों की सोच कभी विकसित नहीं होगी. देश में अंधविश्वास इतना बढ़ता जा रहा है कि अब लोग अपने अंधविश्वास के चलते, सरकारी संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाने से नहीं हिचकते. धार्मिक अंधविश्वास का नया उदाहरण तेलंगाना से आया है. यहांं 30 साल के लखन मनोज नाम के युवक ने शिवलिंग की खोज में हाईवे पर 15 फ़ीट गहरा गड्ढा खोद डाला.

जानगांव ज़िले के पेमबर्थी गांव में रहने वाले लखन मनोज के मुताबिक, 'भगवान शिव पिछले पांच सालों से उसके सपनों में आ रहे थे. भगवान शिव ने ही उससे कहा था कि हाइवे पर उसी जगह ज़मीन के नीचे शिवलिंग छिपा है, जिसे निकालकर वो वहां भव्य मंदिर कर निर्माण करे.'

सभी गांव वालों ने शख़्स की बातों पर विश्वास किया और भगवान शिव के लिंग के दर्शन के लिए, जेसीबी और फावड़े की मदद से गांव वालों ने वारंगल-हैदराबाद राजमार्ग के बीच में खुदाई शुरू कर दी. एनएच-163 राष्ट्रीय राजमार्ग को खोदने से पहले वहां विधि-विधान के साथ पूजा-पाठ भी की गई.

ग्रामिणों की इस हरकत पर पुलिस प्रशासन ने काफ़ी नाराज़गी जताई है. हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत के दौरान, डिप्टी कश्मिनर T Venkanna ने बताया, 'मामले में युवक मनोज, गांव के सरपंच, नगर निगम उपाध्यक्ष और लोकल कांग्रेस नेता को गिरफ़्तार कर, उनके ख़िलाफ़ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.'