राजस्थान के इकलौते हिल स्टेशन का नाम है माउंट आबू. लेकिन माउंट आबू हिल स्टेशन के अलावा और क्या क्या है, ये वहां जा कर ही जाना जा सकता है. अरावली पर्वतों के कंधे पर बैठे माउंट आबू में हर किस्म के पर्यटकों के लिए कुछ न कुछ है. हनीमून कपल, बैचलर ग्रुप, स्टूडेंट ट्रिप, धार्मिक मंडली आप इनमें से किसी का भी हिस्सा हो, माउंट आबू आपको निराश नहीं करेगा.

इन 8 स्थलों को बस एक झांकी मानें:

1. दिलवारा जैन मंदिर

Image Source: india

माउंट आबू से 2.5 किलोमीटर दूर दिलवारा मंदिर का निर्माण लगभग 11वीं से 13वीं सदी के बीच में हुआ है. मंदिर की ख़ासियत संगमरमर के पत्थरों का ख़ूबसूरत इस्तेमाल है. मंदिर की सजावट और पत्थरों को एक-दूसरे के ऊपर रखने का तरीका दुनिया भर में मशहूर है. दिलवारा जैन मंदिर पांच मंदिरों के समूह से बनता है. इसकी बनावट में हिन्दू और जैन कारीगरी की झलक दिखती है.

2. गुरु शिखर

Image Source: deviantart

अरावली पर्वत श्रृंखला की सबसे ऊंची चोटी है गुरु शिखर. यहां से पूरे माउंट आबू को एक बार में देखा जा सकता है. ये स्थल गुरु दत्तात्रेय के मंदिर के लिए भी जाना जाता है.इस जगह जाने का भरपूर आनंद सुबह या शाम ही लिया जा सकता है. यहां जाते समय खाने का सामान याद से रख लें.

3. अचलगढ़

Image Source: blogspot

ये नाम एक किले और एक पुराने साम्राज्य से ताल्लुक रखता है. इसे सबसे पहले परमार वंश के शासकों ने बनवाया था. इसे दोबारा से मेवाड़ वंश के महाराणा कुंभा ने 1452 में बनवाया और इसका नाम बदल कर 'अचलगढ़' रख दिया. अगर पुरातनस्थल आपकी पसंदीदा चीज़ों में से एक नहीं भी है, तो भी अचलगढ़ नज़ारों को देखने के लिए भी जाया जा सकता है.

4. नक्की झील

माउंट आबू की सबसे मशहूर जगहों मे से एक है नक्की झील. इसे प्राचीन और पवित्र माना जाता है. ऐसी दंतकथा है कि देवताओं ने इसे अपने नाखून से खोद कर बनाया था, ताकि इसमें बंशखली नाम के राक्षस को गाड़ दिया जाए. यहां महात्मा गांधी की अस्थियों का एक अंश भी विसर्जित किया गया था. उनके नाम पर गांधी घाट भी बनाया गया है.

5. Sunset Point

Image Source: transindiatravels

किसी भी हिल स्टेशन की जान होती है वहां का Sunset Point. माउंट आबू के Sunset Point पर भारी तादाद में पर्यटक जाते हैं. इस जगह को बॉलीवुड फ़िल्म 'क़यामत से क़यामत तक' में देखा जा सकता है.

6. अचलेश्वर महादेव मंदिर

Image Source: staticflickr

राजस्थान में भगवान शिव का ये सबसे प्राचीन मंदिर है. यहां प्राकृतिक शिवलिंग मौजूद है. अचल किले के पास ये मंदिर मौजूद है. माना जाता है कि इसे दूसरी शताब्दी में बनाया गया होगा. ये भी माना जाता है कि यहां भगवान शिव के पदचिन्ह मौजूद हैं.

7. माउंट आबू के बाज़ार

Image Source: thrillophilia

अब कहीं घूमने जांएगे तो ख़रीदारी भी तो करेंगे. यहां से बाज़ार से हस्तनिर्मित कपड़े, घर सजाने का सामान, कश्मीरी शॉल और आयुर्वेदिक तेल ख़रीदे जा सकते हैं.

8. Wildlife Sanctuary

Image Source: rajras

अरावली में मौजूद जंगल को 1980 में Wildlife Sanctuary घोषित किया गया. ये 288 वर्ग किलोमिटर में फैला हुआ है. यहां विभन्न प्रकार के जीव-जंतु पाए जाते हैं. कभी यहां शेर और बाघ भी पाए जाते थे लेकिन अभी यहां चीते की संख्या ज़्यादा है. इसके अलावा जंगली भालू, भेड़िया, लोमड़ी, सांभर और अन्य जंगली जानवर पाए जाते हैं. यहां सफ़ारी का मज़ा लेना न भूलें.

किसी भी मौसम में राजस्थान जाना कभी भी घाटे का सौदा नहीं हो सकता है. वो ऐड वाले क्या कहते हैं? हां, 'जाने क्या दिख जाए'.