गैंग्स ऑफ़ वासेपुर के फ़रहान चाचा ने कहा था, दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं... आगे की लाइन थोड़ी असंस्कारी है, लेकिन उसका मतलब भी यही है कि दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं, बस... कोई तीसरी तरह के नहीं.

पहली तरह के वो, जो फ़ोन तब तक चार्ज नहीं करते, जब तक बैटरी 1 परसेंट पर न पहुंच जाए. लेकिन इस प्रजाति ऐसी भी होती है, जिसे अपना फ़ोन पूरा चार्ज कर के रखने की आदत होती है. अगर दुनिया को आदतों के हिसाब से बांट दिया जाए, तो दो तरह के ही लोग मिलेंगे.

हम ऐसी ही कुछ आदतों को दो हिस्सों में बांटा है,देखते हैं, आप कौन से वाले इंसान हैं.

अगर आर्टिकल पसंद आया हो, तो इसे ज़रूर शेयर करें.

Gazab Illustrations By : Sanil Modi