'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा' देश को ये नारा देने वाले नेता जी सुभाष चन्द्र बोस ने स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान दिया, जो भारत के इतिहास में सदा ही स्वर्ण अक्षरों में मौजूद रहेगा. उन्होंने ब्रिटिश शासन के खिलाफ़ अपनी आज़ाद हिन्द फ़ौज बनाई. माना जाता है कि 23 जनवरी, 1897 को कटक में जन्म लेने वाले इस क्रांतिकारी क मृत्यु 18 अगस्त 1945 को एक हवाई दुर्घटना में हो गई थी. हालांकि, उनका शव उस वक़्त नहीं मिला था और अभी तक इस बात के कोई प्रमाण नहीं ही. शायद यही वजह है कि नेताजी की मौत और उसके कारणों पर आज भी विवाद बना हुआ है.

आज हम आपके लिए लाये हैं नेता जी की कुछ अनदेखी तस्वीरें, जो साबित करती हैं कि देश हो या विदेश हर जगह उनके प्रभावशाली व्यक्तित्व का सम्मान और आदर था.

नेता जी सुभाष चंद्र की ये फ़ोटो 1940 की है.

1940 में सुभाष चंद्र बोस प्रशंसकों की शुभकामनाएं लेते हुए.

विक्टोरिया स्टेशन पहुंचते ही नेता जी का फूलों के हार के साथ स्वागत किया गया.

प्रो-जापानी, ब्रिटिश-विरोधी ब्रिटिश राष्ट्रवादी नेता सुभाष चंद्र बोस 1940 में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान 51वें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के बारडोली आश्रम में भोजन का आनंद लेते हुए.

1940 में 51वें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नए राष्ट्रपति सुभाष चंद्र बोस ट्रेडीशनल फ़ॉर्मल कपड़े पहने हुए.

जर्मनी में नेता जी सुभाष चंद्र बोस की कुछ तस्वीरें

1945 में टोक्यो में भाषण देते हुए सुभाष चंद्र बोस

George Lansbury (1859-1940) श्रमिक नेताओं ने भारतीय राष्ट्रवादी नेता और अखिल भारतीय कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चंद्र को बधाई दी थी.

भारत मां के इस सपूत को गज़बपोस्ट की ओर से उन्हें शत-शत नमन.