किसी शायर ने कहा है, 'हर दिल कुछ कहता है, जज़्बातों को समझने वाले चाहिए'. अब मार्केट में आज कल ऐसे बहुत से लोग हैं, जो दिल की बात समझने और समझाने आ गये हैं. ऐसे में हम दिल से थोड़ा नीचे उतरते हुए आज हाथों की बात करते हैं. हमारे हाथ और उनकी उंगलियां भी हमारे बारे में बहुत कुछ बयान कर जाती हैं.

किसी व्यक्ति के हाथ की अनामिका, मध्यमा और तर्जनी उंगली के आकार से भी उसके बारे में बहुत कुछ समझा जा सकता है. आज हम उंगलियों की इसी कलाकारी के बारे में आपको बताते हैं.

1. जब अनामिका, तर्जनी से बड़ी हो

जिन लोगों की अनामिका उनकी तर्जनी उंगली से बड़ी होती है, ऐसे व्यक्ति आकर्षक और दबंग स्वभाव वाले होते हैं. इस तरह के लोग बिना थके और रुके अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए निरंतर कार्य करते रहना पसंद करते हैं. ऐसे लोगों को अपने आप से बातें करना ज़्यादा सहज लगता है.

इसके अलावा ये स्वभाव से आक्रामक और मुसीबतों का डट कर सामना करने वाले भी होते हैं. वैसे अधिकांश समय इनका स्वभाव दयालु प्रकृति का ही होता है. ऐसे लोग अपने करियर के रूप में साइन्टिस्ट, इंजीनियर, आर्मी के प्रोफेशन को चुनते हैं.

2. जिनकी तर्जनी, अनामिका से बड़ी हो

ऐसे व्यक्ति जिनकी तर्जनी उंगली, उनकी अनामिका से बड़ी हो, ऐसे लोगों को अपने काम पूरे विश्वास के साथ करने की आदत होती है. ऐसे लोग शान्ति से अपना काम करना पसंद करते हैं, लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि ये स्वभाव से इंट्रोवर्ट होते हैं.

ऐसे लोगों का अपने काम पर ज़्यादा फोकस रहता है, इन्हें काम के दौरान बीच में किसी तरह की कोई डिसटर्बेंस नहीं पसंद होती. ये अपने काम से ख़ुश रहते हैं और इनमें हमेशा आगे बढ़ते रहने की चाहत बनी होती है.

3. जिनकी तर्जनी और अनामिका की लम्बाई समान हो

जिन लोगों की अनामिका और तर्जनी उंगली समान लम्बाई लिए होती है, उन लोगों को किसी तरह के झमेले में पड़ना पसन्द नहीं होता है. ऐसे लोग स्वभाव से काफ़ी संतुलित और सुलझे हुए होते हैं.

ऐसे लोग रिलेशनशिप में काफ़ी ईमानदार होते हैं. ऐसे लोगों को शान्ति काफ़ी पसंद होती है, लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आप इनसे कुछ भी बकवास करोगे तो ये शान्त बैठे रहेंगे.

Source: virginiagroup

इन तीनों तरह के फॉर्मेट को जानने के बाद, अब तक आपने अपना हाथ को चेक कर ही लिया होगा कि आप इनमें से किस तरह के स्वभाव के इंसान हो. अब तो मान गये ने हर दिल की तरह हर हाथ भी कुछ कहता है.

Source: higherperspectives