2019 का कुंभ प्रयागराज में होने वाला है. कुंभ के मद्देनज़र उत्तर प्रदेश सरकार ने कई तैयारियां की हैं. उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को बताया कि प्रयागराज में कुंभ के लिए तैयार किया जा रहा शहर, दुनिया का सबसे बड़ा अस्थायी शहर होगा.

Source: Tripoto

New Indian Express के अनुसार, इस अस्थायी शहर में 22 Pontoon Bridge (नौका पुल या पीपा पुल) और 250 किलोमीटर लंबी सड़कें बनाई गई हैं. इसके अतिरक्त कुंभ में पहली बार LED लाइट का इस्तेमाल किया जाएगा, मेले को 40 हज़ार LED बल्ब रौशन करेंगे.

उत्तर प्रदेश सरकार का अनुमान है कि 6 लाख भारतीयों के अलावा 5 हज़ार प्रवासी भारतीय भी कुंभ में हिस्सा लेंगे.

Source: Tripoto

प्रयागराज के कुंभ में हिस्सा लेने वाले श्रद्धालुओं को 'अक्षयवट' और 'सरस्वती कूप' के दर्शन करने का भी अवसर मिलेगा.

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी किए स्टेटमेंट में कहा गया,

'कुंभ का आयोजन 'त्रिवेणी संगम' पर होगा लेकिन पूरे प्रयागराज की ही कायापलट की जा रही है. श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए सड़क, नदी और एयर मार्ग को पहली बार खोला जा रहा है.'

Source: Prayagraj Kumbh Yatra

उत्तर प्रदेश सरकार का अनुमान है कि कुंभ के लिए लगभग 4300 करोड़ खर्च होंगे. उत्तर प्रदेश सरकार ने बताया कि 192 देशों के प्रतिनिधि फरवरी में कुंभ का हिस्सा बनेंगे.