शिक्षक, लेखक और इन्फ़ोसिस की चेयरपर्सन सुधा मूर्ति हमेशा सरल, सादगी भरा और साधारण जीवन जीती हैं और लोगों को साधारण जीवन जीने के लिए प्रेरित भी करती हैं. वो इन मूल्यों को दूसरों को ही ज़िंदगी में नहीं अपनाने के लिए कहतीं, बल्कि उन्होंने अपने बच्चे को भी इन्हीं मूल्यों के साथ पाला है.

parents should know sudha murty's response to her son
Source: edexlive

इस बात की पुष्टि 2017 में उन्होंने मुंबई के जमनाबाई नरसी कैम्पस के दौरे के दौरान छात्रों से बातचीत करते हुए की. यहां इन्होंने बच्चे के पालन-पोषण पर भी बात की और बताया कि हमें अपने बच्चे को सही जीवन देने के लिए उन्हें हर बात का मोल बताना ज़रूरी है.

parents should know sudha murty's response to her son

इसके लिए उन्होंने अपने ही बेटे का उदाहरण देते हुए बताया, जब वो छोटा था तो एक फ़ाइव स्टार होटल में बर्थ डे पार्टी करना चाहता था, जिसके लिए मैंने उसे इजाज़त नहीं दी.

parents should know sudha murty's response to her son

साथ ही उसे समझाया जिन पैसों को वो एक पार्टी में ख़र्च करना चाहता है वो कई ग़रीब बच्चों की शिक्षा में काम आ सकते हैं. इसमें उनके ड्राइवर के बच्चे भी शामिल थे.

parents should know sudha murty's response to her son

जब उनका बेटा कॉर्नेल में पढ़ रहा था, तो उसने उनकी बातों और दी हुई शिक्षा को याद करते हुए एक मेल लिखा कि 'मुझे अपनी मां पर गर्व है.'

parents should know sudha murty's response to her son

आपको बता दें, उनके बेटे ने स्कॉलरशिप की फ़ीस को 2001 में पार्लियामेंट अटैक में शहीद हुए जवानों को डोनेट कर दी थी. क्योंकि वो जान गया था कि किसी ज़रूरतमंद की पैसों से मदद करना बहुत सौभाग्य की बात होती है.

Designed By: Nupur Agrawal

Women से जुड़े आर्टिकल पढ़ने के लिए ScoopWhoop हिंदी पर क्लिक करें.