पति ने ज़िम्मेदारी से भागने का अच्छा रास्ता चुना आत्महत्या और रिश्तेदारों ने भी शुक्रवार को पैसे नहीं देते कह कर दिया था मना, वही प्रेमा आज अपने पैरों पर खड़ी है और अपने बच्चों का भी पेट पाल रही है, जो ख़ुदकुशी करने वाली थी. दरअसल, तमिलनाडू के सलेम में रहने वाली प्रेमा और उसका पति ईंट भट्टे में मज़दूर के तौर पर काम करते थे. इसके चलते प्रेमा के पति ने अपना बिज़नेस करने के लिए 2.5 लाख रुपए उधार लिए. मगर उसको बिज़नेस में धोखा खाना पड़ा और सारा पैसा डूब गया. इससे परेशान होकर उसके पति ने ख़ुदकुशी कर ली.

उसके पति ने जो कर्ज़ा लिया था वो प्रेमा पर आ गया. इस वजह से तंगी के हालात पैदा हो गए जिससे बचने के लिए प्रेमा ने भी अपने बच्चों के साथ ख़ुदकुशी करने की सोची क्योंकि उसने उधार चुकाने के लिए अपने रिश्तेदारों से मदद मांगी थी, लेकिन उन्होंने ये कहकर मना कर दिया कि शुक्रवार को वो उधार नहीं देते.

Source: statusi

उसी समय वहां से गुज़र रहे एक शख़्स ने कहा कि वो विग बनाता है इसलिए अगर तुम अपने बाल दे दो तो मैं तुम्हें उसके बदले पैसे दे दूंगा. प्रेमा ने फ़ैरन घर के अंदर जाकर अपने बाल मूंडकर उसे दे दिए. उसने प्रेमा को 150 रुपए दिए. इन 150 रुपए में सै रुपए से प्रेमा ने पांच, तीन और दो साल के बच्‍चों को खाना खिलाया और 50 रुपए से ज़हर लेने दुकान पर गई. मगर दुकान वाले को प्रेमा की बातों से कुछ गड़बड़ लगा तो उसने कह दिया कि वो ज़हर नहीं बेचता है.

Source: gulfnews

इसके बाद प्रेमा ने घर आकर एक पौधे के ज़हरीले बीज खाने की कोशिश की, जिससे उसकी बहन ने रोका. प्रेमा की इस बात की ख़बर जब ग्राफ़िक फ़ैशन डिज़ाइनर जी बाला को मिली, तो उन्होंने सोशल मीडिया के ज़रिए क्राउड फ़ंडिंग कर प्रेमा की मदद करनी चाहिए.

जी बाला की मदद से प्रेमा के पास 1.45 लाख रुपए हैं और उसकी ज़िंदगी पूरी तरह बदल चुकी है. वो पहले से कहीं ज़्यादा आत्मविश्वासी बन चुकी है. हाल ही में सलेम के ज़िला प्रशासन ने उसकी विधवा पेंशन भी चालू कर दी है और उसे बाला के दोस्त के यहां ईंट भट्टे पर काम मिल गया है.

Source: patrika

बाला ने प्रेमा का जो इतना साथ दिया उसके पीछे भी एक आपबीती है. बाला ने बताया,

बचपन में उनकी मां ने भी गरीबी के चलते ख़ुदकुशी करने का फ़ैसला ले लिया था, लेकिन रिश्‍तेदारों ने उन्‍हें बचा लिया.

बाला ने भावुक हो प्रेमा से कहा,

अगर मेरी मां को सब लोग नहीं बचाते तो मैं भी नहीं होता और आज तुम मेरी गाड़ी में नहीं बैठी होती.

आपको बता दें, प्रेमा ने बाला से सोशल मीडिया से मदद के लिए डाली गई पोस्ट को हटाने का अनुरोध करते हुए उन सभी को धन्यवाद बोला है जिन्होंने उसके बुरे वक़्त में मदद की. साथ ही कभी आत्महत्या के बारे में न सोचने का वादा भी किया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं अपने बच्चों के लिए मेहनत करूंगी और उन्हें अच्छी से अच्छी शिक्षा दूंगी.

Women से जुड़े आर्टिकल ScoopwhoopHindi पर पढ़ें.