विश्व का इतिहास क्रूर व ख़तरनाक तानाशाहों से भरा पड़ा है, जिनमें एक नाम चंगेज़ ख़ान का भी आता है. चंगेज़ एक मंगोल शासक था, जिसने मंगोल साम्राज्य के विस्तार में अहम भूमिका निभाई. कहते हैं कि इसने पूर्वोत्तर एशिया की खानाबदोश जनजातियों को संगठित किया और अपने विजय अभियान में निकल पड़ा. अपनी मृत्यु तक इसने कई बड़े क्षेत्रों पर कब्ज़ा कर लिया था, जिसमें मध्य एशिया और चीन के भी भौगोलिक हिस्से शामिल हैं. आइये, इसी क्रम में हम आपको बताते हैं चंगेज़ ख़ान से जुड़ी कुछ अनसुनी बातें, जिनके बारे में आपने पहले नहीं सुना होगा.   

1. बचपन से ही ग़ुस्सैल  

genghis khan
Source: nwitimes

हिस्ट्री वेबसाइट के अनुसार, ऐसा कहा जाता है कि चंगेज़ ख़ान बचपन से ही एक ग़ुस्सैल स्वभाव का था. वहीं, माना जाता है कि एक बार खाने को लेकर उसका अपने छोटे भाई के संग ऐसा झगड़ा हुआ कि उसने अपने भाई को मार डाला.     

2. चंगेज़ ख़ान का असली नाम   

genghis khan
Source: fineartamerica

बहुतों को लगता है कि ‘चंगेज़ ख़ान’ ही चंगेज़ ख़ान का असली नाम है, लेकिन ऐसा नहीं है, रिपोर्ट्स के अनुसार, उसका असली नाम ‘तेमुज़िन’ था. माना जाता है कि मंगोल जनजातियों का सरदार बनने के बाद उसने अपना नाम चंगेज़ ख़ान रख लिया था. हालांकि, इस पर अभी और सटीक प्रमाण की ज़रूरत है.   

3. सेना में घोड़ों की अहमियत   

Genghis khan
Source: owlcation

वहीं, एक अन्य रिपोर्ट कहती है कि चंगेज़ ख़ान की सेना में घोड़ों की बहुत अहमियत थी. सेना में मजबूत, फुर्तीले और टिकाऊ घोड़ों को शामिल किया जाता था. साथ ही घोड़ों का ख़ास ख़याल रखा जाता था. कहते हैं कि चंगेज़ ख़ान के हर सैनिक के पास पांच-छह घोड़े होते थे और सैन्य अभियान के दौरान वो घोड़े बदलते रहते थे, ताकि घोड़े थके नहीं.   

4. लगभग 4 करोड़ लोगों की हत्या का ज़िम्मेदार   

genghis khan
Source: wonderopolis

ऐसा माना जाता है कि चंगेज़ ख़ान ने अपनी मृत्यु तक विश्व की एक बड़ी आबादी को मौत के घाट उतरवा दिया था. एक अनुमान के अनुसार, वो लगभग 4 करोड़ लोगों की हत्या का ज़िम्मेदार बना.   

5. भारत आते-आते लौट गया  

genghis khan
Source: theapricity

इंडियनइंटरेस्ट नामक एक अंग्रेज़ी वेबसाइट ने लिखा है कि कि चंगेज ख़ान ने ईरान में जिस शासक ख़ारज़म पर हमला किया था, उसका बेटा जलालुद्दीन भागकर सिंध नदी तक आ गया था और दिल्ली में आश्रय लेने के लिए चला गया, लेकिन उस समय के दिल्ली के सुल्तान इल्तुमिश ने चंगेज़ ख़ान का नाम सुनकर उसे आश्रय देने से मना कर दिया था. कहते हैं चंगेज़ ख़ान ने सोचा था कि वो भारत को रौंदता हुआ मंगोलिया चला जाएगा, लेकिन वो वापस मंगोलिया चला गया.   

6. 1.6 करोड़ वंशज  

genghis khan
Source: owlcation

इतिहासकारों का मानना है कि चंगेज़ ख़ान की सैकड़ों औलादे थीं. वहीं, नेशनल ज्योग्राफ़िक के अनुसार, एक अनुमान के तौर पर आज विश्व में चंगेज़ ख़ान के 1.6 करोड़ वंशज़ ज़िंदा हैं.    

7. चंगेज़ खां कैसा दिखता था? 

genghis khan
Source: historicmysteries

हिस्ट्री वेबसाइट की रिपोर्ट में यह भी लिखा है कि चंगेज़ ख़ान असलियत में कैसा दिखता था, इसका कोई रिकॉर्ड नहीं है. कहते हैं कि उसके निजी ज़िंदगी को बताने वाले सबूत उपलब्ध नहीं है. वहीं, कई इतिहासकार उसे लंबे कद-काठी, मजबूत शरीर और बड़े-बड़े बालों वाला बताते हैं. वहीं, एक इतिहासकार का मानना है कि उसकी नीली आंखें और लाल बाल थे. हालांकि, बिना सटीक प्रमाण के इन्हें सच नहीं माना जा सकता है.   

8. जीत का क्षेत्र

genghis khan
Source: indusscrolls

 चंगेज़ ख़ान ने अपनी मृत्यु तक एक बड़े भू-भाग पर कब्ज़ा जमा लिया था. मंगोल की खानाबदोश जनजातियों को एकजुट करने के बाद, चंगेज़ ख़ान ने मध्य एशिया और चीन के बड़े हिस्से पर विजय प्राप्त कर ली थी. वहीं, माना जाता है कि उसके वंशजों ने पोलैंड, वियतनाम, सीरिया और कोरिया जैसे दूर-दराज़ के स्थानों तक आगे बढ़ते हुए साम्राज्य का विस्तार किया. वहीं, कहा जाता है कि अपने चरम पर मंगोलों ने 11 से 12 मिलियन वर्ग मील के क्षेत्र को अपने नियंत्रण में ले लिया था.   

9. चंगेज़ ख़ान की मौत   

genghis khan
Source: quora

चंगेज़ ख़ान की मौत अब तक एक रहस्य बनी हुई है. वह कैसा मरा था और उसे कहां दफ़नाया गया था, यह कोई नहीं जानता. वहीं, एक कहानी के अनुसार उसकी मौत घोड़े से गिरने की वजह से हुई थी. हालांकि, इससे जुड़ा कोई सटीक प्रमाण उपलब्ध नहीं है.   

10. उत्तराधिकारी   

genghis khan
Source: historyofyesterday

ब्रिटानिका की एक रिपोर्ट के अनुसार चंगेज़ ख़ान की मृत्यु के बाद उसका साम्राज्य उसके बेटे ओगताई ने संभाला था. उसने भी मंगोल साम्राज्य का विस्तार किया.