होली हो, शिवरात्रि या कावड़ यात्रा, भांग-गांजे के नशे में मदमस्त लोग आपको मिल ही जाएंगे. ऐसा भी नहीं है कि ये नशे हैं. भारत भूमि पर सदियों से लोग भांग और गांजे का नशा करते आ रहे हैं.

bhang
Source: langimg.com

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि एक ही पौधे से आने वाले भांग, गांजा और चरस में आख़िर अंतर क्या होता है. चलिए आपको बताते हैं:   

gaanja
Source: jagranimages.com

भांग, गांजा और चरस में अंतर 

भारत में जो Cannabis या Marijuana का पौधा उगता है उसका Scientific नाम Cannabis Indica है. आमतौर हम इसे भांग या गांजा का पौधा कहते हैं.

इस पौधे की सूखी हुई कलियों को संस्कृत में गांजा कहा जाता है. लोग अक्सर इन सूखी हुई कलियों को चिलम या सिगरेट में भरकर पीते हैं. गांजा पीते ही आदमी को Relaxed हो जाता है. गांजे को ही Weed, Pot, आदि नामों से जाना जाता है.

gaanja
Source: patrika.com

भांग के फूलों को अपने हाथ पर रगड़ने से जो काली परत (Resin) जम जाती है उसे ही चरस या हशीश कहते हैं. भारत, पाकिस्तान, नेपाल और लेबनान जैसे देशों में हशीश या चरस को हाथों से ही रगड़-रगड़ कर बनाया जाता है. इसके लिए लोग भांग के पौधे में लगे फूल को तोड़कर तलहटी में घंटों-घंटो रगड़ने हैं. रगड़ने की स्पीड जितनी कम होती है, चरस की गुणवत्ता उतनी ही बेहतर होती है.

Charas
Source: zamnesia.com

ये भी पढ़ें: इन 20 तस्वीरों में दर्ज हैं क़िस्मत के वो खेल जो लाखों-करोड़ों में एक बार होते हैं 

Charas
Source: The Hindu

जब किसी खाने या पीने वाली चीज़ में भांग के पौधे की पिसी हुई पत्तियों और तने को मिला दिया जाता है तो उसे भांग कहते हैं. जैसे कि होली में पीने जाने वाली ठंडाई में भांग की पत्तियों (या तने) को पीस का मिला दिया जाता है. इसके अलावा लोग भांग का पकौड़ा और भांग का हलवा भी बनाते हैं.  

bhang
Source: oneindia

ये भी पढ़ें: 17 ऐसे Mind-Blowing Facts जिनमें मिलेगा दुनिया भर में हुई कई घटनाओं के पीछे का सच  

bhang
Source: cityspideynews

तो देखा आपने पौधा एक नशे तीन. हालांकि, आपको बताते चलें कि कुछ बीमारियों के इलाज में भांग के पौधे का ख़ूब इस्तेमाल होता है. इससे कई तरह की दवाइयां भी बनाई जाती है.

कई देशों ने भांग पर से प्रतिबंध हटा लिया और अब वहां भांग-गांजा आदि का सेवन ग़ैरक़ानूनी नहीं है. क्या हमारे देश में भी इसपर से प्रतिबन्ध हटाया जाना चाहिए? कमेंट में अपनी राय हमें ज़रूर बताइयेगा.