एक शायर, जो ख़ुद से कुछ यूं मुख़ातिब होता है-

'एक आस्तीन चढ़ाने की आदत को छोड़ कर 
 ‘हाफ़ी’ तुम आदमी तो बहुत शानदार हो'

                    - तहज़ीब हाफ़ी

तहज़ीब हाफ़ी (Tahzeeb Hafi). पाकिस्तान का वो मशहूर शायर, जो आजकल हिंदुस्तान में भी बेहद पॉपुलर हो चुका है. ख़ास तौर से युवाओं के बीच. या यूं कहें कि हर युवा दिल के बीच. एक ऐसा शायर, जिनकी शायरी में इश्क़ रेशम सा नज़र आता है. जितना ख़ूबसूरत, उतना ही नाज़ुक.

आज हम आपके लिए तहज़ीब हाफ़ी के 10 बेहतरीन शेर लेकर आए हैं. (Shayari of Tahzeeb Hafi)

1.

Source: Shayari of Tahzeeb Hafi

2. 

Source: Tahzeeb Hafi

3. 

Source: Shayari

4. 

Source: Tahzeeb Hafi poetry

5. 

Source: Tahzeeb Hafi from pakistan

6. 

Source: All writings of Tahzeeb Hafi

7. 

Source: Tehzeeb Hafi Shayari Collection

8. 

Source: Tehzeeb Hafi urdu Shayari

9. 

Source: Urdu shayari

10.

Source: Tehzeeb Hafi Best Shayari

ये भी पढ़ें: निदा फ़ाज़ली: वो शायर, जिनकी शायरी गहरे जज़्बातों को आसान शब्दों में लपेटकर दिल छू लेती हैं

तहज़ीब के शेर बताते हैं कि मोहब्बत और उसके जज़्बात हर मुल्क़ में एक से हैं. इश्क़ की ख़ुमारी और दिल टूटने का दर्द, दोनों तरफ़ एक सा है.