डूबने वाले का हौसला तोड़ने के लिए एक पूरा समंदर चाहिए, लेकिन उसकी उम्मीद जगाने को एक तिनका ही काफ़ी है. ये नज़रिया ही है जिसके फेर से दुनिया बदलती है. फिर बात चाहें जि़ंदगी की हो या ज़िंदगी देने वाले हमारे पर्यावरण की. 

आज भले ही विकास का बुल्डोज़र प्रकृति को रौंद रहा हो, लेकिन ज़मीं में कुछ बीज अभी भी अंकुरत होने को हैं. बस उन्हें चाहिए तो आपका प्यार, ताकि वो हर रोज़ अपने ऊपर हो रहे नफ़रती वार को सह सकें.

आज हम ऐसी ही कुछ तस्वीरें देखेंगे. जो इस बात का सुबूत हैं कि हमारी एक छोटी सी कोशिश भी प्रकृति में नई जान फूंक सकती है.

1. सवाल सिर्फ़ एक पेड़ का नहीं, बल्कि करोड़ोंं ज़िंदगियों का है.

 smallest tree matters
Source: brightside

2. इंस्टिट्यूट टेरा ने 18 साल में एक इलाके की पूरी तस्वीर ही बदल दी.

3. विकास के लिए किसी का नाश तो ज़रूरी नहीं.

nature
Source: brightside

4. इससे बेहतर आपके जीवन की सुरक्षा कोई नहींं कर सकता.

 fences
Source: brightside

5. ये है असली विकास की सीढ़ी.

6.  हैती का रेगिस्तान महज़ एक साल में जंगल में तब्दील.

7. संतरे के एग्रीकल्चर वेस्ट ने कोस्टा रिकान वर्षावन को एक बार नया जीवन दिया. 

8. मेडागास्कर में पुनर्वनीकरण की ईडन परियोजना का 6 साल में ये शानदार नतीजा निकला.

9. घर के अंदर एक पेड़ के साथ रहना भी ग़ज़ब एक्सीपीरियंस होगा.

10. प्रकृति अपना रास्ता ख़ुद तलाश लेती है. 

11. जहां चाह, वहां राह.

Solutions
Source: brightside

12. घर के आसपास पेड़ लगाइए या फिर पेड़ के आसपास घर बनाइए.

trees
Source: brightside

13. ये सच में एक कंक्रीट जंगल है.

14. ये है प्रकृति की शक्ति, जहां कुछ नहीं उग सकता, वहां भी फूल खिल उठते हैं.

flowers
Source: brightside

15. लोग सूखी ज़मीन पर भी पेड़ उगाने में कामयाब रहे.

16. ये पेड़ 100 सालों से इसी तरह शान से खड़ा है.

ये भी पढ़ें: प्रकृति से प्रेरित दुनिया भर की ये 10 इमारतें इंसानी इंजीनियरिंग का बेमिसाल नमूना हैं

इन तस्वीरों को देखकर एक उम्मीद जागती है कि आज नहीं कल हम सही दिशा पकड़ ही लेंगे.