Top 10 Deadliest Snipers in History: युद्ध जीतने के लिए केवल ऑटोमैटिक हथियार ही नहीं, बल्कि जांबाज़ सैनिकों की ज़रूरत भी होती है. किसी भी देश की सेना तभी मज़बूत कहलाती है जब हथियारों के साथ-साथ उसके जवानों को अच्छी ट्रेनिंग भी मिली हो. इसीलिए अधिकतर देश हथियारों से ज़्यादा अपने सैनिकों को कड़ी ट्रेनिंग देने में ज़्यादा विश्वास रखता है. भारत अपनी सेना को मज़बूत बनाने के लिए जवानों को कमांडो (Commando) ट्रेनिंग देती है, जो हर मुसीबत में लड़ने सक्षम होते हैं. ठीक उसी तरह अमेरिका समेत दुनिया के अन्य देश अपने सैनिकों को स्नाइपर (Sniper) ट्रेनिंग देते हैं. स्नाइपर बेहद ख़तरनाक माने जाते हैं, ये सैकड़ों किलोमीटर दूर से भी दुश्मन को मार गिराने में सक्षम होते हैं. इनके निशाने से बचना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होता है.

owlcation

चलिये आज आप भी दुनिया के 10 सबसे ख़तरनाक Sniper’s के बारे में जान लीजिए-

10- Chuck Mawhinney (103 Kills) 

चक मावहिनी (Chuck Mawhinney) एक पूर्व अमेरिकी मरीन सैनिक थे. अपने अचूक निशाने के लिए मशहूर ‘चक’ ने ‘वियतनाम युद्ध’ के दौरान स्नाइपर (Sniper) के तौर पर 16 महीने तक अमेरिकी सेना को अपनी सेवाएं दी थीं. बतौर मरीन स्नाइपर ‘चक’ के नाम 103 दुश्मनों को मार गिराने का रिकॉर्ड है, इस दौरान उन्होंने 30 सेकंड में 16 दुश्मनों के सिर उड़ा दिए थे. जबकि चक मावहिनी को करियर में कुल 216 दुश्मनों को मार गिराने का श्रेय दिया जाता है. चक के पिता चार्ल्स बेंजामिन मावहिनी ‘द्वितीय विश्व युद्ध’ के दौरान अमेरिकी मरीन जवान थे.

owlcation

9- Adelbert Waldron (109 Kills) 

एडेलबर्ट वाल्ड्रॉन (Adelbert Waldron) अमेरिकी सेना में स्नाइपर (Sniper) थे. वाल्ड्रॉन ने भी ‘वियतनाम युद्ध’ के दौरान अमेरिकी सेना की ‘9वीं इन्फैंट्री डिवीजन’ के साथ काम किया था. इससे पहले वो 12 साल अमेरिकी नौसेना में भी रहे. सेना में शामिल होने पर उन्हें ‘वियतनाम युद्ध’ के दौरान में मेकांग डेल्टा में गश्त करने वाली पीबीआर नौकाओं की ज़िम्मेदारी सौंपी गई. इस दौरान 8 महीने से भी कम समय में वाल्ड्रॉन ने 109 दुश्मनों को मार गिराया था.

facebook

8- Henry Norwest (115 Kills) 

हेनरी नॉरवेस्ट (Henry Norwest) एक कनाडाई स्नाइपर (Sniper) थे. हेनरी को ‘प्रथम विश्व युद्ध’ के दौरान उनके कारनामों के लिए जाना जाता है. सन 1915 में कनाडाई सेना में शामिल होने से पहले हेनरी ‘रॉयल नॉर्थवेस्ट माउंटेड पुलिस’ में बतौर सिपाही काम करते थे. कनाडाई सेना में शामिल होने के 3 महीने बाद ही दुर्व्यवहार के कारण हेनरी को नौकरी से निकाल दिया गया. इसके बाद उन्हें ’50वीं कनाडाई इन्फैंट्री बटालियन’ में भर्ती कर लिया गया. इस दौरान 3 साल से भी कम समय में हेनरी ने 115 दुश्मनों को मार गिराया.

facebook

7- Chris Kyle (160 Kills) 

क्रिस काइल (Chris Kyle) एक अमेरिकन नेवी सील स्नाइपर (Sniper) थे. 8 अप्रैल 1974 को टेक्सास में जन्मे क्रिस इराक युद्ध में चार बार भाग कर चुके हैं. किसान, परिवार से ताल्लुक रखने वाले क्रिस अमेरिकन नेवी में शामिल होने से पहले पेशेवर रोडियो राइडर हुआ करते थे. अमेरिकन नेवी में शामिल होने के बाद उन्हें साल 1999 में सील (SEAL) की ट्रेनिंग मिली. इसके बाद वो SEAL Team-3 के स्नाइपर नियुक्त किया गया. ईराक युद्ध के दौरान उन्हें वीरता के लिए सम्मानित भी किया गया था. इस दौरान उन्होंने क़रीब 160 दुश्मनों को मार गिराया था.

owlcation

6- Vasily Zaytsev (242 Kills) 

वसीली ज़ायत्सेव (Vasily Zaytsev) एक सोवियत स्नाइपर (Sniper) थे. वसीली ‘द्वितीय विश्व युद्ध’ के दौरान सोवियत यूनियन की ‘रेड आर्मी’ में सेवारत थे. वसीली ज़ायत्सेव को आपमें अचूक निशाने से 242 से अधिक दुश्मनों को मार गिराने का श्रेय जाता है. 23 मार्च 1915 को येलेनिनस्कॉय में जन्मे वसीली ने निशानेबाजी बचपन में अपने दादा से अपनी सीखी थी. कॉलेज की पढ़ाई ख़त्म करने बाद वो ‘सोवियत सेना’ में भर्ती हो गए. द्वितीय विश्व युद्ध वसीली ज़ायत्सेव ने 242 दुश्मनों को ढेर कर दिया था.

reddit

5- Lyudmila Pavlichenko (309 Kills) 

ल्यूडमिला पावलिचेंको (Lyudmila Pavlichenko) भी सोवियत स्नाइपर (Sniper) थीं. वो दुनिया की एकमात्र महिला थीं जिन्होंने ‘द्वितीय विश्व युद्ध’ के दौरान सोवियत यूनियन की ‘रेड आर्मी’ में बतौर स्नाइपर काम किया. ल्यूडमिला पावलिचेंको के नाम 309 दुश्मनों को मार गिराने का रिकॉर्ड है. 12 जुलाई 1916 को बिला त्सेरकवा (आधुनिक यूक्रेन) में जन्मी ल्यूडमिला को बचपन से ही शूटिंग का बेहद शौक था. इतिहास की सबसे सफ़ल महिला स्नाइपर ल्यूडमिला पावलिचेंको को ‘लेडी डेथ’ भी कहा जाता था.

businessinsider

4- Francis Pagahmagabow (378 Kills) 

फ्रांसिस पगमागाबो (Francis Pagahmagabow) एक कनाडाई स्नाइपर (Sniper) था, जिसने प्रथम विश्व युद्ध में अपनी सेवाएं दी थीं. इस दौरान उन्हें 378 दुश्मन को मार गिराने का श्रेय दिया जाता है. प्रथम विश्व युद्ध के बाद फ्रांसिस कनाडाई सेना में वॉलेंटियर के तौर पर काम करने लगे. सन 1914 में उन्हें कनाडाई अभियान बल (23वीं कनाडाई रेजिमेंट) की ज़िम्मेदारी सौंपी गयी.

marca

3- Carlos Hathcock (393 Kills) 

कार्लोस हैथकॉक (Carlos Hathcock) अमेरिकन मरीन कॉर्प्स स्नाइपर (Sniper) थे. कार्लोस ने ‘वियतनाम युद्ध’ के दौरान सेवाएं दी थीं. इस दौरान बतौर स्नाइपर उन्होंने क़रीब 393 दुश्मनों को मार गिराया था. इनमें से 93 की पुष्टि भी की जा चुकी थी. 20 मई 1942 को अर्कांसस के लिटिल रॉक में जन्मे, हैथकॉक कम उम्र से ही शूटिंग से परिचित हो गए, क्योंकि उनका परिवार भोजन के लिए शिकार पर ही अधिक निर्भर रहता था.

owlcation

2- Fyodor Okhlopkov (429 Kills) 

फ्योडोर ओखलोपकोव (Fyodor Okhlopkov) सोवियत यूनियन की ‘रेड आर्मी’ का प्रमुख स्नाइपर (Sniper) था. द्वितीय विश्व युद्ध में भाग लेने वाले फ्योडोर ने करियर में कुल 429 दुश्मनों को अपने अचूक निशाने का शिकार बनाया था. स्नाइपर के तौर पर 420 दुश्मनों को मार गिराने के लिए उन्हें सन 1944 में ‘Hero of the Soviet Union’ ख़िताब के लिए नामांकित किया गया था, लेकिन अस्पष्ट कारणों से इसे खारिज़ कर दिया गया. इसके बाद मई 1965 में उन्हें ‘विजय दिवस’ की सालगिरह के मौके पर इस ख़िताब से सम्मानित किया गया था. 

alchetron

1- Simo Hayha (505 Kills) 

सिमो हेहा (Simo Hayha) को आज भी दुनिया का सबसे ख़तरनाक स्नाइपर (Sniper) कहा जाता है. फ़िनलैंड के स्नाइपर सिमो ने द्वितीय विश्व युद्ध 1939-1940 के ‘शीतकालीन युद्ध’ के दौरान अपने अचूक निशाने से सोवियत यूनियन की ‘रेड आर्मी’ के 505 सैनिकों को ढेर कर दिया था. इस दौरान उन्होंने फ़िनलैंड में निर्मित M/28-30 (मोसिन-नागेंट राइफ़ल) और सुओमी KP/-31 सबमशीन गन का इस्तेमाल किया था.

businessinsider

अगर आप भी किसी ख़तरनाक Sniper के बारे में जानते हैं तो हमारे साथ शेयर करें.