Why Do Indians Stare Too Much: इससे पहले कि हम बताएं कि भैया इंडियंस इतना काहे घूरते हैं, पहले जान लीजिए कि आख़िर ये 'घूरना' क्या होता है? तो भैया घूरने का मतबल ई है कि अगर आप जानबूझकर अपनी खुली अंखियन से किसी चीज़ को एकटक देखते हैं, तो ये घूरने की श्रेणी में आ जाता है. वहीं, भारत में घूरने वालों की संख्या बहुते है. यहां लोग सिर्फ़ एक वजह से नहीं, बल्कि अलग-अलग और मनचाही वजहों से दूसरों तो घूरते हैं.


कुछ लोगों को तो तब तक घूरते हैं जब तक कि सामने वाला पूरी तरह असहज न हो जाए और बुरा-भला न सुना दे. ऐसे घूरने वाले प्राणी थोड़े थेथर भी होते हैं यानी कोनो असर नहीं पड़ता. तो चलिए आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि आख़िर भारतीय इतना क्यों घूरते हैं?

आइये, विस्तार से जानते हैं Why Do Indians Stare Too Much 

1. हमरे इलाक़े में ई कौन हे बे!

Indian stare
Source: indiansguidetoindia

Why Do Indians Stare Too Much: पहला कारण तो ये कि जब कोई प्राणी किसी दूसरे इलाक़े में चला जाए, तो वहां की घूरने वाली गैंग घूर-घूर कर उसे एहसास करा देती है कि वो अजबनी है. ऐसा गांव या फिर छोटे शहरों में ज़्यादा देखने को मिलता है.   

2. कपड़ों से जज करने वाली गैंग

staring
Source: qph.fs.quoracdn

कपड़ों से कैरेक्टर जज करने वालों की कमी नहीं है भारत में है. अगर लड़का कुछ मॉर्डन ड्रेस में दिख जाए, तो उसे घूरने वाले और ये कहने वाले बहुत मिल जाएंगे कि इनसे पढ़ाई लिखाई या काम तो होगा नहीं, बदमाश ही बनेगा. वहीं, लड़कियों को टाइट जींस और टॉप या बैकलेस ड्रेस में देखकर घूरने वाली गैंग मनगढ़ंत कैरेक्टर डिसाइड कर डालती है.  

3. ख़ूबसूरत कन्या के दर्शन

Why Do Indians Stare Too Much: ख़ूबसूरत चीज़ तो आकर्षित को करती है और भारतीयों को ज़्यादा, जहां ख़ूबसूरत या क्यूट-सी लड़की दिखी आंखें चल पड़ी पीछा करने. हालांकि, इसके पीछे इंटेंशन थोड़ा आशिकाना होता है, लेकिन ग़लत, तो ग़लत ही होगा न बाबू मोशाय.  

4. ग़लत इरादों से घूरना

STARE
Source: thenewsminute

अच्छों में कुछ थेथर लोग भी होते हैं, जो ग़लत इरादों से लड़कियों को घूरते हैं. वैसे ऐसे लोगों की सुताई भी पब्लिक जम कर करती है. वहीं, कई बार धाकड़ लड़कियों ख़ुद ऐसे मनचलों को थोपड़ा सुज़ा देती हैं.  

5. दादागीरी दिखाने के लिए

Why Do Indians Stare Too Much: भारत की गलियों में आपको दादा लोग भी मिल जाएंगे. वो वाले दादा नहीं, बदमाश वाले दादा. इन दादाओं की ज़ुबान के साथ-साथ आंखे भी दादागीरी दिखाती हैं. घूर-घूर कर सामने वाले एहसास करा देते हैं कि अपुन इस एरिये का दादा है.  

ये भी पढ़ें: जब औरतों से पूछे जाएं बेमतलब के अटपटे सवाल, तो ज़रूर दिए जाने चाहिए ऐसे चटपटे जवाब

6. कहीं पे निगाहें कहीं पे निशाना

कई बार उन लोगों को भी घूरने वाला समझ लिया जाता है, जिनको आंखों से जुड़ी वो समस्या होती है जिनमें वो देखते कुछ और हैं और नज़र कहीं और रहती है. वहीं, सामने वाला समझ बैठता है कि ये घूर रहा है.   

7. झगड़ा करने का मूड

Why Do Indians Stare Too Much: कुछ इंडियंस इसलिए भी घूरते हैं कि वो झगड़े या लड़ने के मूड में होते हैं. कॉलेज या छोटे इलाक़ों में ऐसे लोग दिख जाएंगे. किसी बात का बदला लेने के लिए ये प्लान बना लेते हैं और लड़ाई करने से पहले आंखों से घूर-घूर कर जता देते हैं कि भाई आज अपुन तेरे से लड़ेगा.  

8. बातचीत करने की कोशिश

कई बार कुछ लोग अनजान से बात करने चाहते हैं, लेकिन शर्म से नहीं कर पाते. वो उसे घूरते हैं, ताकि वो कुछ बोल, तो बातचीत शुरू हो.

9. इसको पहले कहीं देखा है

कभी-कभी ऐसा भी होता है, जब किसी अंजान को देखकर ऐसा लगता है कि इसे कहीं तो देखा है. अब ऐसे में वो उससे बात तो नहीं कर सकता है, इसलिए घूर-घूर को उसे पहचानने की कोशिश करता है.   

10. दूसरों की बातें सुनने के लिए 

Why Do Indians Stare Too Much: घूरने वालों में वो लोग भी शामिल हैं जो थोड़ी दूर बैठे दूसरे लोगों की बातें सुनने के लिए घूरने लग जाते हैं. इनमें कुछ ऐसे भी मिल जाएंगे, तो घूर-घूर कर बातचीत कर रहे लोगों को हटा ही डालते हैं.    

ये भी पढ़ें: सोशल मीडिया और स्मार्टफ़ोन को लेकर मां-बाप की ये 13 मज़ेदार बातें आपको हंसने पर मजबूर कर देंगी

11. इसकी घड़ी तो महंगी लग रही है

कुछ लोग दूसरों की महंगी घड़ी या जूते देखकर ही उन्हें घूरने लग जाते हैं. शायद वो ये सोचते होंगे कि ऐसा हमारे पास क्यों नहीं है या फिर ये सोचते होंगे कि लगता है बहुत अमीर हैं.  

12. विचित्र पहनावे में आ जाना

कई बार भारतीयों के लिए वो लोग विचित्र बन जाते हैं, जो कुछ अलग ड्रेस या हेयर स्टाइल में उनके सामने आ जाते हैं. ऐसे में वो उन्हें बिना घूरे नहीं मानेंगे.   

13. आंखे दी हैं भगवान ने 

shakti kapoor
Source: rediff

वहीं, कुछ लोगों का ये भी मानना है कि भई आंखें दी हैं भगवान ने, तो घूरेंगे ही.