90s Movies Iconic Scenes : 90s में रिलीज़ हुई ऐसी बहुत सारी मूवीज़ हैं, जो हमारी मेमोरी का हिस्सा हैं. उन मूवीज़ को बाद में हमने कई बार देखा है, क्योंकि उसमें या तो हमारे फ़ेवरेट एक्टर और एक्ट्रेस हुआ करते थे, या उसका कोई गाना हमें पसंद था. उस ज़माने में फ़ैमिली के साथ पॉपकॉर्न, समोसे और चाय की चुस्की लेते हुए मूवी एंजॉय करने का अलग ही मज़ा था. 

आइए आज हम आपको 90s की मूवीज़ के कुछ आइकॉनिक सीन्स के बारे में बता देते हैं, जो बतौर किड्स हमारे लिए हमेशा स्पेशल रहेंगे.

1. फ़िल्म लम्हे का मेडली गाना

साल 1991 में अनिल कपूर और श्रीदेवी स्टारर फ़िल्म ‘लम्हे‘ अब तक की सबसे फ़ेमस मूवीज़ में से एक है. इसके ख़ूबसूरत टाइटल ट्रैक के अलावा इस मूवी में एक सीन है, जिसमें पूजा (श्रीदेवी), वीरेंदर (अनिल) को प्रेम (अनुपम खेर) के साथ पुराने गाने पर थिरकते हुए चीयर कर रही हैं. 

ये भी पढ़ें: 90 के दशक में कई फ़िल्में आयीं पर इन 10 फ़िल्मों ने कमाई के मामले में सबको पीछे छोड़ दिया

2. फ़िल्म अग्निपथ में जब विजय समुद्र के किनारे कांचा से मिलता है 

अमिताभ बच्चन स्टारर 1990 में आई फ़िल्म ‘अग्निपथ‘ किसे नहीं याद है? इसमें एक सीन है, जब विजय समुद्र के किनारे कांचा से मिलता है और कहता है ‘वक़्त पर पहुंचने का अपना पुराना आदत है‘. 

3. फ़िल्म जो जीता वही सिकंदर में जब वो जीत जाते हैं.

ये उस दौरान की पहली स्पोर्ट्स मूवी होगी, जो शायद हमने देखी होगी. इस मूवी की एंडिंग सबसे ज़्यादा इंगेजिंग थी. जो साइकिल की रेसिंग के दौरान बिल्कुल टफ़ मुक़ाबला देखने को मिलता है, उसने हमारे पैरों तले ज़मीन खिसका दी थी. 

4. फ़िल्म हम आपके हैं कौन में पापड़ वाला सीन

ऐसी क्या चीज़ थी, जो इस फ़िल्म में आइकॉनिक नहीं थीं? ऐसी कोई चीज़ नहीं थी. उस दौरान इस फ़िल्म के गाने ‘दीदी तेरा देवर दीवाना’ गाने के बिना कोई शादी कंप्लीट नहीं थी. शादी की बात करें, तो इसमें एक पापड़ वाला सीन था, जो लोगों की मेमोरी में अभी भी फ्रेश है. जहां माधुरी सलमान को बेवकूफ बनाने की कोशिश करती है, वहीं वह बिस्तर के नीचे रखे पापड़ का पता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ते.

5. जब फ़िल्म बाज़ीगर में SRK, शिल्पा को छत से फेंक देते हैं

‘हारकर जीतने वाले को बाज़ीगर कहते हैं’. वो मिनी हार्ट अटैक याद है, जो इस फ़िल्म में शाहरुख़ ख़ान ने शिल्पा को छत से नीचे फेंक कर हमें दिया था? ये सीन आज भी रोंगटे खड़े कर देता है.

6. फ़िल्म खिलाड़ियों का खिलाड़ी का अंडरटेकर वाला सीन

आपकी मेमोरी रिफ्रेश करने के लिए बता दें कि साल 1996 में आई फ़िल्म ‘खिलाड़ियों का खिलाड़ी‘ में अक्षय कुमार और रेखा कपल बने थे. अफ़वाहें थी कि एक सीन के लिए अंडरटेकर को लाया जा रहा है. लेकिन बाद में कन्फ़र्म किया गया कि वो अंडरटेकर का बहुरूपिया था.

7. फ़िल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे का पलट वाला सीन

फ़िल्म ‘DDLJ’ में जब शाहरुख़ ख़ान, काजोल के पलटने की उम्मीद लगाते हैं, भले ही वो सीन कितना भी फ़िल्मी क्यों ना हो, पर हमें कपल से प्यार हो जाता है. शायद ही ऐसा कोई 90s किड रहा होगा, जिसने अपनी गर्लफ्रेंड पर ये लाइन ट्राई ना मारी हो.

8. फ़िल्म बॉर्डर में भैरों सिंह और मथुरा दास की फ़ाइट.

1997 में आई फ़िल्म ‘बॉर्डर’ में कोई एक सीन चुनना थोड़ा मुश्किल है. लेकिन इनमें सबसे ज़्यादा दिमाग़ पर गहरा असर भैरों सिंह और मथुरा दास की फ़ाइट वाला सीन डालता है. इसमें जब सुनील शेट्टी कहते हैं, ‘ये धरती मेरी मां है सर, और इसने मेरी मां को गाली दी है‘, तब रोंगटे खड़े हो जाते हैं.

9. फ़िल्म कुछ कुछ होता है में जब अंजलि कॉलेज छोड़ देती है

कुछ कुछ होता है, राहुल तुम नहीं समझोगे‘, राहुल (SRK)और अंजलि (काजोल) के झगड़े के अलावा, करण जौहर की इस पहली फ़िल्म में याद रखने के लिए काफ़ी कुछ है. लेकिन जब अंजलि को पता चलता है कि टीना और राहुल एक-दूसरे को प्यार करते हैं और वो कॉलेज छोड़ देती है, वो सीन अभी तक लोगों को याद है.

ये सीन्स दिमाग़ में अभी भी तरोताज़ा हैं.