Amjad Khan Birth Anniversary: 80 के दशक में हिंदी सिनेमा में विलेन्स का बोलबाला था. ‘मोगैंबो’ से लेकर ‘लोटिया पठान’ तक का नाम इसमें शामिल हैं. इनमें एक और नाम शुमार है वो है ‘गब्बर सिंह’ का. ‘शोले’ (Sholay) के इस किरदार को निभाया था अमजद ख़ान ने. 

sholay gabbar singh
medium

यूं तो उन्होंने हिंदी सिनेमा में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट अपने करियर की शुरुआत की थी, लेकिन इस फ़िल्म ने उन्हें रातों-रात स्टार बना दिया. मगर इस फ़िल्म को साइन करने से पहले उनका जीवन बहुत ही तंगहाली में गुजरा. उनके संघर्ष भरे जीवन का एक क़िस्सा हम आज लेकर आए हैं, जिसे ख़ुद उनके बेटे शादाब ख़ान ने सुनाया था. 

ये भी पढ़ें: दिलचस्प क़िस्सा: जब दूरदर्शन ने रामानंद सागर के ‘रामायण’ धारावाहिक को कर दिया था रिजेक्ट

बेटे ने शेयर किया था क़िस्सा

amjad khan son
indiarag

TOI को दिए एक इंटरव्यू में शादाब ख़ान (Shadaab Khan) ने ये बात लोगों के साथ साझा की थी. उन्होंने बताया कि कैसे जब उनका जन्म हुआ तो उनके पिता के पास पैसे नहीं थे जिससे वो अस्पताल का बिल चुका मां-बेटे को घर ला सकें.

शादाब ख़ान कहते हैं रमेश सिप्पी की ‘शोले’ के हिट होने से पहले हमारे घर के माली हालात सही नहीं थे. उन्होंने आगे कहा- ‘उनके पास अस्पताल का बिल चुकाने के पैसे नहीं थे और इसलिए वो अस्पताल आने से झिझक रहे थे. मेरी मां उन्हें पास में न देख रो रहीं थीं. वो अस्पताल आने में शरमा रहे थे’.

ये भी पढ़ें: क़िस्सा- जब किशोर कुमार ने बीआर चोपड़ा से शर्त के तौर पर करवाया धोती पहनकर डांस

इस डायरेक्टर ने की थी मदद

amjad khan
medium

जब ये बात उनके एक दोस्त और मशहूर डायरेक्टर चेतन आनंद (Chetan Anand) को पता चली तो वो तुरंत उनकी मदद को आगे आए. उन्होंने अमजद ख़ान को 400 रुपये दिए ताकी वो अस्पताल का बिल भरकर अपने बीवी-बच्चे को घर ला सकें. चेतन आनंद के साथ अमजद ने फ़िल्म ‘हिंदुस्तान की कसम’ (Hindustan Ki Kasam) में काम किया था. शादाब कहते हैं- ‘जब उन्होंने 400 रुपये दिए तब जाकर मैं और मेरी मां घर आ सके’.

इनकी वजह से मिला गब्बर सिंह का रोल 

amjad khan son
YouTube

जिस दिन वो घर आए थे उसी दिन अमजद ने ‘शोले’ साइन की थी. उन्होंने ये भी बताया कि ‘शोले’ को साइन करने के बाद ही उनकी ज़िंदगी बदल गई. , वो बहुत फ़ेमस हो गए. ये रोल पहले डैनी को ऑफ़र हुआ था वो बिजी थे इसलिए ये अमजद ख़ान को मिला. संजीव कुमार और अमिताभ बच्चन तक इसे करने को तैयार थे, लेकिन सलीम ख़ान ने इस रोल के लिए अमजद का नाम सजेस्ट किया था. रमेश सिप्पी ने भी जब उन्हें कास्ट किया और इनकी एक्टिंग देखी तो उनकी ख़ूब तारीफ़ की थी.