Mahatma Gandhi Diet : ‘राष्ट्रपिता’ कहे जाने वाले महात्मा गांधी की देश को स्वतंत्रता दिलाने से जुड़ी कहानियां हमने काफ़ी सुनी हैं. लेकिन उनकी पर्सनल लाइफ़ से जुड़ी कहानियां काफ़ी कम लोग ही जानते होंगे. जब बात खाने की आती थी, तो उस मामले में वो काफ़ी निश्चित थे. पूरे स्वतंत्रता संघर्ष के दौरान वो हमेशा कृषि कार्यों में व्यस्त रहे और किसानों की कभी उपेक्षा नहीं की. वो शाकाहारी थे और कई बार ऐसा भी होता था कि वो चाय या कॉफ़ी पीने के लिए भी मना कर देते थे.

आज हम आपको उन फ़ूड आइटम्स के बारे में बताएंगे, जिन्हें खाना महात्मा गांधी को बेहद पसंद था.

Mahatma Gandhi Diet

1. चपाती

गांधी जी को रोटी या पराठे से ज़्यादा चपाती पसंद थी. ये उनके खाने में ज़रूर होती थी. गुजराती होने के चलते वो चपाती खाते हुए ही बड़े हुए थे. अपनी इस आदत को उन्होंने पूरी ज़िंदगी जारी रखा.

Mahatma Gandhi Diet
jagran

2. दाल और चावल

गांधी जी के खाने का अहम हिस्सा दाल और चावल था. कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन से युक्त ये मील उस दौरान सभी भारतीयों के भोजन का हिस्सा हुआ करता था और गांधी जी भी इससे अछूते नहीं थे. 

indiatvnews

ये भी पढ़ें: महात्मा गांधी के करीब रहीं इन 8 महिलाओं को लेकर हमेशा फ़ैलाया गया है झूठ, मगर ये है हक़ीक़त

3. बैंगन

क्या आपने कभी सादा, उबला हुआ बैंगन खाया है? आज शायद ही ज़्यादातर लोग इसे प्रेफ़र करते हों, लेकिन गांधी जी अपने मील उबले हुए बैंगन के साथ ही एंजॉय करते थे. 

4. दही

दही पेट के लिए अच्छा माना जाता है और पाचन के लिहाज़ से भी फ़ायदेमंद है. बापू अक्सर अपने मील में दही भी शामिल किया करते थे.

daringgourmet

5. लौकी

लौकी ऐसी सब्ज़ी है, जो अपनी कई न्यूट्रीशनल वैल्यू के लिए जानी जाती है. गांधी जी को लौकी बहुत पसंद थी. जब लौकी का सीज़न होता था, तो वो इसे खाने से पहले उबालते थे और फिर इसका आनंद लेते थे. 

steamingpot

6. चुकंदर

गांधी जी शुद्ध और सात्विक खाना खाने में विश्वास रखते थे. वो उन खाद्य पदार्थों के खिलाफ़ थे, जिनके खाने से गुस्सा तेज़ होता है. उन्हें अपनी सब्ज़ियां बिना किसी नमक और तेल के उबली हुई खानी पसंद थीं. इसमें उबला हुआ चुकंदर भी शामिल था.  

garlicgirl

7. जूस

गांधी जी ना शराब का सेवन करते थे और साथ ही अपने सपोर्टर्स को भी इसका सेवन करने से मना करते थे. वो इसके बदले जूस और स्क्वाश जैसी ड्रिंक्स पीना ज़्यादा प्रेफ़र करते थे. एक आदमी जो ज़्यादातर भूख हड़ताल पर रहता था, उनके लिए फ्रूट जूस एनर्जी का तत्काल स्त्रोत था.

seniority

ये भी पढ़ें: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आखिरी 10 सालों की ये अनदेखी तस्वीरें हर भारतीय को देखनी चाहिए

8. पेड़ा

दूध से बना हुआ मुलायम पेड़ा गुजरात में मिठाई के तौर पर ख़ूब खाया जाता था. गांधी जी सिर्फ़ वही पेड़ा खाते थे, जो गाय के दूध से बना होता था. उन्हें ये मिठाई काफ़ी पसंद थी. 

youtube

ये फ़ूड आइटम्स गांधी जी के फ़ेवरेट थे.