सोशल मीडिया पर कुछ दिनों पहले इस्लामाबाद का एक 'चायवाला' अपनी ख़ूबसूरत आंखों की वजह से मशहूर हुआ था. एक फ़ोटोग्राफ़र ने चाय बेचने वाले अरशद खान की फ़ोटो खींच कर इंटरनेट पर डाली, जो वायरल हो गई. उसके बाद वो चायवाला 'पाकिस्तानी चायवाले' के नाम से मशहूर हो गया. लाखों लड़कियां उस चाय वाले की दीवानी हो गईं और उसे सोशल मीडिया के माध्यम से शादी के लिए प्रपोज़ करने लगी. उन तस्वीरों से अरशद को काफ़ी फ़ायदा हुआ और उसे मॉडलिंग और म्यूज़िक एल्बम के कई कॉन्ट्रैक्ट मिल गए.

Source: Thenews

वही चाय वाला एक बार फिर चर्चा में है. लेकिन इस बार चर्चा की वजह उसकी ख़ूबसूरती नहीं बल्कि उसकी नागरिकता है. अरशद खान पाकिस्तान में अवैध तरीके से रह रहा था, जबकि असल में वो अफ़गानिस्तान का नागरिक है. पाकिस्तानी संस्था NADRA (National Database & Registration Authority ) ने ख़ुद इस बात की पुष्टि की है.

Source: IndianExpress

दरअसल, अरशद खान की सच्चाई का पता उस समय चला, जब ये अपना पासपोर्ट बनवाने के लिए NADRA के पास पहुंचा. NADRA के अधिकारियों ने जांच में पाया कि अरशद खान पाकिस्तान का नागरिक नहीं है. जांच में ये भी पता चला कि अरशद ने अपनी पहुंच का इस्तेमाल करके पाकिस्तान के लिए फर्ज़ी मतदाता पहचान पत्र भी बनवा लिया था. अब पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि वो उस चायवाले के खिलाफ़ क़ानूनी कार्यवाही करेंगे.

Source: Hindustantimes

पाकिस्तान में अफ़गानिस्तान के उच्चायुक्त Dr. Omar Zhakilwal ने भी ट्वीट कर अरशद खान के अफ़गानी नागरिक होने की अधिकारिक पुष्टि कर दी है.

ये बात तो तय है कि अरशद गैरक़ानूनी ढंग से पाकिस्तान में रह रहा था. अब देखना ये होगा कि पाकिस्तानी अधिकारी उसके खिलाफ़ क्या कार्यवाही करते हैं. अभी तक इस बात की भी कोई जानकारी नहीं मिली कि आखिर अरशद खान ने झूठ क्यों बोला!

Article Source: Indianexpress