'हमें मत सिखाओ, बाप हैं हम तुम्हारें' 


'बेटा कितने ही बड़े क्यों न हो जाओ, हमारे बाप नहीं बन पाओगे' 

'जो तुम कर रहे हो न हम बहुत पहले कर चुके हैं' 

'हां... हां... बाप तो अंबानी है न तुम्हारा जो सब देख लेगा' 

शायद ही कोई ऐसा इंसान होगा, जिसने पापा से ऐसे डायलॉग नहीं सुने होंगे. ये बात तो सौ प्रतिशत सही है कि हम कितना ही होश्यिार क्यों न बन लें, पर पापा से ज़्यादा चालाकी नहीं चलती. पापा कम बोलते हैं, लेकिन जब बोलते हैं सॉलिड बोलते हैं. हमारी ज़िंदगी में कई ऐसे मौक़े भी आते हैं, जब पापा बता देते हैं कि भाई ज़्यादा उछलो मत रिश्ते में हम तुम्हारे बाप हैं. मतलब बाप-बाप होता है. समझे. 

Big B
Source: Acenews

फ़ादर्स के उपलक्ष्य में हमने भी कुछ लोगों से इस पर बात की. इसके बाद तो सब ही बोल पड़े, बाप-बाप होता है भाई. 

1. पहले फ़ोन 24 घंटे हाथ में तो रहता नहीं था. अकसर उसी कमरे में होता था जहां सब बैठ कर TV देखते थे, तो एक टाइम था जब Friends जो Girls थीं, उनके फ़ोन आते थे.अगर पापा के आस-पास फ़ोन रखा हो तो सिर्फ़ ये एहसास दिलाने के लिए कि बाप को सब पता होता है. वो फ़ोन बजते ही लड़की का नाम ले कर ज़ोर से आवाज़ लगाते थे. (XYZ) का कॉल आ रहा है... उठा लो!... क़सम से, सब छोड़-छाड़ के फ़ोन उठाने के लिए भागना पड़ता था इससे पहले कि वो ही उठा लें! 

2. एक बार मैं अपनी दोस्त के साथ लेट शाम को कॉलेज कैंपस में घूम रहा था. उस टाइम पर वहां ऐसे घूमने की परमिशन नहीं थी. कुछ सेक्योरिटी गार्ड और एक पुलिस ऑफ़िसर ने राउंट लगाते वक़्त हमें देख लिया और रोक लिया. फिर पूछताछ चालू हो गई. कहां रहते हो. क्या कर रहे हो इतनी लेट. किस कोर्स में पढ़ते हो आदि. 


फिर उसने Moral Policing शुरू कर दी. बताऊं तुम्हारे घरवालों को. मैंने कहा बता दीजिये और उन्होंने पापा को पूरा मामला बताने के लिये फ़ोन लगा दिया. उन्होंने पुलिसवाले से बात की और कहा कि मुझे पता है वो किसके साथ है और कहां है. कॉलेज में है, बच्चा नहीं है. जाने दीजिये. 

3. मुझे चप्पलों और घड़ियों का बहुत शौक़ है और जब भी शॉपिंग करते हैं एक जोड़ी चप्पल तो आती ही है. पापा बोलते हैं इतनी चप्पलों का क्या करोगी? कभी-कभी डांटते भी हैं. इसलिए कई बार हम नई चप्पल छिपा कर रख देते हैं. पर वो तो पापा हैं, उनको सब पता होता है. जब भी नई चप्पल पहनों बोलते हैं कि पहले तो नहीं देखी ये. 

4. बचपन में मैं पापा की पॉकेट से पैसे (चिल्लर) चुरा लिया करता था. वो इस बात का ध्यान ही नहीं रखते थे. मैंने ऐसा कई बार किया. एक बार उन्हें लगा कि आख़िर पॉकेट से चिल्लर जा कहां रहे हैं? इस बार उन्होंने ज़बर प्लान बनाया! पॉकेट से सारे चिल्लर पहले ही निकाल कर रख लिए. रात को जैसे ही मैं उनकी पैंट की पॉकेट से चिल्लर निकालने लगा तो जाल में फंस गया. 

5. बाबा हमारे हैं Savage. Graduation में जब भी बॉयफ़्रेंड के साथ फ़ोन पर रहती, पापा का फ़ोन आ जाता. ये एक अलग मिस्ट्री है! हम हर बार एक ही बहाना बनाते थे, दोस्त का फ़ोन था. एक दिन पापा ने बोल ही दिया 'Friend Or Boyfriend'. 

6. मैं कॉलेज का बोलकर रोज़ मूवी देखने पहुंच जाता था. बीच में मैंने मूवी देखना छोड़ दिया. तब मेरे पिता जी ने कहा कि क्या हुआ आजकल कॉलेज नहीं जा रहे. मूवी देखने के पैसे नही हैं क्या? 

7. मेरे भाई को पापा ने शतरंज सिखाया था. वो आज भी बहुत अच्छा खेलता है, उससे कोई जीत नहीं पाता. पर वो पापा को कभी नहीं हरा पाया.

8. कुछ सालों पहले जब लोकसभा चुनाव हो रहे थे, तब कांग्रेस और बीजेपी को लेकर मेरी और पापा में बहस हुई. मैं बीजेपी जीतेगी कह रहा था और पापा कांग्रेस को सपोर्ट कर रहे थे. जब रिज़ल्ट आया, तो कांग्रेस ने बीजेपी को हरा और पापा ने मुझे. 

9. एक बार मैं और मेरा दोस्त अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए बाइक पर बैठकर वेट कर रहे थे. वो सामने से साइकिलिंग करते हुए आ रही थी. वह थोड़ी दूर थी, तो हम लोगों को साफ़-साफ़ दिख नहीं रहा था. मैं और वो बहस कर रहे थे कि इतने में मेरे पापा पीछे से आकर हाथ रखते हुए कहते हैं, वो तो आ जाएगी पहले बाप को छोड़ आओ ऑफ़िस उस दिन एहसास हुआ बाप-बाप होता है.

10. 12वीं क्लास के समय, मैं अपने दोस्त के घर पर जाकर स्कूटी सीखती थी. घर पर किसी को नहीं पता था. एक दिन पापा घर पर बोले मुझे कब स्कूटी पर राइड कब मिलेगी? 

11. मैं 11वीं क्लास में थी. छुट्टी होते ही मैं अपनी दोस्त के साथ पैदल ही घर के लिये निकल ली. उस दिन ऑटो नहीं किया था. घर पहुंचने पर पापा बोले मुझे पता था तुम दोस्त के साथ पैदल आ रही हो, ऑटो से नहीं. मैं पापा की बातें सुनकर हैरान थी कि उन्हें कैसे पता मैं पैदल आ रही हूं. 

12. मैं पापा के साथ पासपोर्ट बनवाने जा रही थी. पापा बोले ओरिजनल सर्टीफ़िकेट रख लो. मैंने बोला फ़ोटोकॉपी लगेगी, ओरिजनल ले जाके क्या करेंगे. पापा बोले तुम अपने बाप को मत सिखाओ. मैंने अरे पापा चलो. पापा वहां पहुंचकर अगर कुछ हुआ, तो हमें मत बोलना कुछ. 


पासपोर्ट ऑफ़िस पहुंची, तो गार्ड ने बोला मैम ओरिजन सर्टीफ़िकेट भी लगेंगे. पासपोर्ट ऑफ़िस से घर दूर था. मुझे ये सुनकर रोना आ गया, पीछे से पापा बोले तब मेरी नहीं सुनी न अब रो. मुझे रोता हुआ देख कर पापा बोले, टेंशन न लो हमने ओजिनल पेपर्स रख लिये थे. पता था कि फ़ोटोकॉपी से काम नहीं चलेगा. ये सुनकर मेरे चहेरे पर हंसी आ गई. 

आप भी अपनी लाइफ़ से ऐसे क़िस्से शेयर करके पापा को Father's Day विश कर सकते हैं. 

Life के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.

Design By: Nupur