कहीं अंधेरा है, तो कहीं रौशनी. कहीं धूप है, तो कहीं छांव. कहीं बुराई है, तो कहीं अच्छाई. बस यही ज़िंदगी की हक़ीकत है. ज़िंदगी में कितनी ही मुश्किलें क्यों न आ जाएं. कोई न कोई आशा की किरण बन कर हमें आगे बढ़ा ही देता है. कहने का तात्पर्य है कि कलयुग के इस दौर में इंसानियत अभी मरी नहीं है. अब 2020 से बुरा क्या हो सकता है, पर इस बुरे दौर में भी कुछ लोगों ने ज़िंदादिली का परिचय देते हुए दूसरों की मदद की.

निस्वार्थ और इंसानियत भरी ये तस्वीरें मुश्किल वक़्त में हिम्मत जगाने के लिये काफ़ी हैं:

1. टीचर मोबाइल लाइब्रेरी के ज़रिये ग़रीब बच्चों को फ़्री में किताबें बांट रहा है.

humanity
Source: twitter

2. आंध्र प्रदेश में दोस्तों का एक ग्रुप रोज़ाना 3,500 रुपये ख़र्च कर 70 भिखारियों का पेट भर रहा है.

humanity
Source: thefederal

3. इंडियन आर्मी के जवानों की ये तस्वीर विविधता में एकता की झलक है.

4. रेफ़्रिजरेटर Tray को जुगाड़ बनाकर छात्रों को ऑनलाइन पढ़ा रही हैं ये टीचर.

humanity
Source: twitter

5. अपनी सैलरी से ग़रीबों और बेसहारा की मदद करती हैं तिरुची की ये पुलिस अफ़सर.

humanity
Source: twitter

6. कमाई कम है फिर भी 5 सालों से मुंबई रेल यात्रियों को फ़्री में जलपान करा रहा है ये युवक.

humanity
Source: timesofindia

7. पुलिस ऑफ़िसर बनना चाहता है ये बच्चा और इसका सपना पूरा करने में मदद कर रहा है एक पुलिस वाला.

humanity
Source: twitter

8. अपनी प्लेट से कुत्तों को खाना खिला रहे बूढ़े भिखारी ने मन मोह लिया.

humanity
Source: jagran

9. 5 साल की उम्र में मजबूरन उसे बनना पड़ा बाल मज़दूर, आज वो हर रात 2000 भूखों को खिला रहा है खाना.

humanity
Source: facebook

10. चेन्नई के पुलिसवालों ने 5 लाख जमा कर बचाई एक बच्ची की जान, पिता के पास नहीं थे ऑपरेशन के पैसे

humanity
Source: citizenmatters

11. इस गांव के बच्चे स्कूल जा सकें इसलिए गांववालों ने नदी पर लकड़ी और केबल का एक पुल बना दिया.

humanity
Source: twitter

12. नौकरी से हटाये जाने के बावजूद लॉकडाउन में लोगों को घर पहुंचाया इस कैब ड्राइवर ने, दिल से सलाम!

humanity
Source: mymahanagar

13. नेत्रहीन व्यक्ति के लिए महिला ने भाग कर रोकी बस.

humanity
Source: scoopwhoop

14. महिला ऑटो ड्राइवर ने 8 घंटे में 140 किमी का सफ़र तय कर कोरोना से ठीक हुई महिला को पहुंचाया उसके घर.

humanity
Source: indianexpress

15. 70 वर्षीय बुज़ुर्ग ने कोरोना वॉरियर्स के लिए खोले अपने होटल के द्वार, दे रहे हैं निशुल्‍क सुविधा.

humanity
Source: jagran

16. मुंबई के इस कॉन्स्टेबल ने दोस्त की कार को एम्बुलेंस बनाया और अब कर रहें हैं कोरोना मरीज़ों की मदद.

humanity
Source: twitter

17. इस शख़्स ने छोटे से गड्डे में घुस बचाई बकरी की जान.

humanity
Source: news18

18. मुंबई वालों ने दिखाई दरियादिली, तस्वीर वायरल होने के बाद सब्ज़ीवाले को मिली 2 लाख रुपये की मदद.

humanity
Source: mumbaimirror

19. मुंबई: बारिश में सड़क के बीच 7 घंटे तक खड़ी रही महिला ताकि खुले मैनहोल से न हो जाए कोई हादसा.

humanity
Source: scoopwhoop

20. गुरुद्वारे में लंगर की व्यवस्था करना.

humanity
Source: thelogicalindian

21. ट्रेन में सफ़र के दौरान महिला को प्रसव दर्द उठा जिसके बाद रेलवे स्टॉफ़ ने डिलीवरी कराई.

humanity
Source: twitter

22. बेरूत धमाके में एक आंख खोने वाले कबूतर को पानी पिलाता हुआ नेक इंसान.

humanity
Source: indiatimes

23. बारिश में भीगते हुए अपनी ड्यूटी निभाता ट्रैफ़िक पुलिस वाला.

humanity
Source: indiatimes

24. दुबई में इलाज करा रहे एक भारतीय कोरोना मरीज़ का बिल करीब 1.52 करोड़ रुपये आया था. हॉस्पिटल ने माफ़ कर दिया.

humanity
Source: indiatimes

25. 5 वर्षीय ये दिव्यांग बच्चा 10 किमी चला और जमा किये 9 करोड़ रुपये, ताकि कोरोना की लड़ाई लड़ सके.

humanity
Source: yourstory

26. डिलीवरी बॉय को लूटने आये चोर ने उसकी दर्दभरी कहानी सुनने के बाद सामान वापस कर दिया.

humanity
Source: indiatimes

27. अमेरिका में डॉक्टर्स और कोरोना मरीज़ों को हीरोज़ को पिज़्ज़ा डिलीवर करता सिख समुदाय.

humanity
Source: indiatimes

28. अफ़गानिस्तानी लड़कियों ने कार-बाइक पार्ट्स से वेंटिलेटर कर बचाई कई ज़िंदगियां.

humanity
Source: indiatimes

29. कोई भी इंसान भूखा न रहे. इसलिये दुनिया की सबसे ऊंची इमारत ने एक दिन में जुटाया 12 लाख लोगों का खाना.

humanity
Source: indiatimes

30. जानवरों का सहारा बना इंसान.

humanity
Source: nationalgeographic

साल 2020 ये फ़ोटोज़ देख बस यही कहा जा सकता है कि बुरे वक़्त में भी अच्छे लोग अपनी अच्छाई नहीं छोड़ते. जीना इसी का नाम है.

Life के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.