ग्लोबल वॉर्मिंग इस समय दुनिया के लिए सबसे बड़ा ख़तरा है. इसके लिए सबसे ज़्यादा प्लास्टिक को ज़िम्मेदार माना जाता है. हर साल लाखों टन प्लास्टिक कचरा समुद्र में बहा दिया जाता है. इसकी वजह से बाढ़, सुनामी जैसे कई दुष्परिणाम सामने आते रहते हैं. लेकिन अब एक व्यक्ति ने प्लास्टिक का सही उपयोग करने का एक नया रास्ता निकाला है.

कनाडा के रहने वाले रॉबर्ट बेजाऊ, प्लास्टिक की पुरानी बोतलों की मदद से इमारत बना रहे हैं. इस इमारत को बनाने में लगभग चालीस हज़ार प्लास्टिक की बोतलों का इस्तेमाल किया गया है.

आइए आपको बताते हैं रॉबर्ट बेजाऊ और उनके द्वारा बनाई गई बेहतरीन इमारत के बारे में!

1. यहां से आया रॉबर्ट बेजाऊ को इमारत बनाने का ख़्याल!

रॉबर्ट एक बार किसी आइलैंड पर एक वॉलंटियर प्रोग्राम में हिस्सा ले रहे थे. वहां पर उनका ध्यान चारों तरफ़ फैले प्लास्टिक के कचरे की तरफ़ गया. इसके बाद उन्होंने इस समस्या पर काम करना शुरू कर दिया.

2. इमारत की बनावट

ये अजीब सी इमारत बिलकुल मध्यकालीन किले जैसी दिखती है. इस इमारत को बनाने में लगभग चालीस हज़ार पुरानी बोतलों का इस्तेमाल किया गया है.

3. प्लास्टिक के कचरे से छुटकारा पाने की कोशिश है ये

इमारत को इस तरह से बनाया गया है कि लोगों का ध्यान बढ़ते प्लास्टिक के कचरे की तरफ़ जाए. हर साल निकलने वाले लगभग 30 लाख टन प्लास्टिक के कचरे में से बहुत थोड़े हिस्से को ही रिसाइकिल करके दोबारा इस्तेमाल करने लायक बनाया जाता है.

4. सिर्फ़ पानी की बोतल का इस्तेमाल किया गया है इमारत बनाने में

पनामा काफ़ी छोटा आइलैंड हैं, लेकिन फिर भी यहां पर हर साल 15 लाख लाख़ प्लास्टिक की बोतलों का कचरा जमा होता है. रॉबर्ट इमारत बनाने के लिए सिर्फ़ प्लास्टिक की बोतलों का ही प्रयोग करते हैं. उनका कहना है कि बाकी बोतलों में तेल की मात्रा भी होती है, जिससे आग पकड़ने का ख़तरा रहता है.

5. इमारत बनाने का तरीका

इमारत का डिज़ाइन बिलकुल पिंजरे जैसा है. अन्दर से देखने पर ये घोंसले की तरह दिखता है. इमारत का सांचा बनाने के लिए के लिए स्टील और तार का इस्तेमाल किया जाता है. इसके बाद उस सांचे पर सीमेंट की परत चढ़ाई जाती है. 

6. इमारत बनाने का उद्देश्य

इमारत बनाने के पीछे रॉबर्ट का मुख्य उद्देश्य लोगों को प्लास्टिक के कचरे के प्रति जागरुक करना है. रॉबर्ट इसके बाद एक कोचिंग सेन्टर भी खोलना चाहते हैं. जहां पर लोगों को प्लास्टिक की बोतल से इमारत बनाना सिखाया जाएगा.

7. इस साल के अन्त तक तैयार हो जाएगी इमारत!

रॉबर्ट द्वारा बनाई जा रही इस इमारत का निर्माण कार्य इस साल के अन्त तक पूरा हो जाएगा. फिर इसका इस्तेमाल हॉलीडे रिज़ॉर्ट के रूप में किया जाएगा.

इसमें कोई शक़ नहीं कि ये एक बेहतरीन पहल है. अगर इस तरह से इमारत बनाने का काम हर जगह हो, तो प्लास्टिक के कचरे से छुटकारा पाया जा सकता है. ये पर्यावरण को स्वच्छ करने की दिशा में सबसे बेहतर कदम होगा.