वृद्धाश्रम में रहने वाले बुज़ुर्गों के मनोरंजन के लिए वहां अकसर डांस या फिर म्यूज़िक पार्टी का आयोजन किया जाता है. मगर गुजरात के एक वृद्धाश्रम ने एक नई शुरुआत करते हुए समाज को एक संदेश दिया है. यहां ओल्ड एज होम के लोगों ने मिलकर कुछ अनाथ बच्चों को गोद लिया है.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया कि एक रिपोर्ट के मुताबिक, अहमदाबाद के 'जीवन संध्या' नाम के वृद्धाश्रम के लोगों ने एक कार्यक्रम आयोजित किया था. 27 फरवरी को हुए इस कार्यक्रम में वृद्धाश्रम के लोगों ने 'शिशु गृह' नाम के अनाथालय के बच्चों को गोद लिया.

old age home adopted kids
Source: twitter

बच्चों को गोद लेने के इस कार्यक्रम में जब बुज़ुर्गों ने अनाथ बच्चों को गले लगाया, इस तरह लाड-दुलार किया मानों वो उन्हीं के बच्चे हों. उनका ये प्यार देखकर वहां मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो गईं. जीवन संध्या के एक अधिकारी ने बताया कि ये सभी बुज़ुर्ग सप्ताह में एक दिन इन बच्चों के साथ समय बिताएंगे. उन्होंने कहा कि- 'हमें उम्मीद है कि इन चंद घंटों में ये दोनों(बच्चे और बुज़ुर्ग) उस प्यार का एहसास कर पाएंगे जिसकी उन्हें तलाश है. ये उन्हें जीवन में आगे बढ़ने और नए उद्देश्य खोजने में मदद करेगा.'

old age home adopted kids
Source: toi

ओल्ड एज होम के अध्यक्ष सी. के. पटेल ने कहा- 'ये एक अच्छी पहल. इससे अनाथ बच्चों को उनके दादा-दादी और बुज़ुर्गों को उनके पोते-पोती का प्यार मिल सकेगा. उनके पास एक-दूसरे को देने के लिए बहुत सारा प्यार है. उम्मीद है कि ये दोनों को भावनात्मक रूप से लाभान्वित करेगा.'

इसी संस्था के एक अन्य सदस्य ने कहा कि इससे बेहतर और क्या हो सकता है कि एक बच्चे को उसके पैरेंट्स मिल जाएं.


है न अच्छी पहल. हम आशा करते हैं कि दूसरे वृद्धाश्रम भी इस पहल का हिस्सा बनेंगे.

Life से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.