भारत-पाकिस्तान (India-Pakistan) कितना ही लड़ लें, लेकिन फिर ये आपस में किसी न किसी तरह से जुड़े हुए हैं. फिर चाहे बात इंसान की हो या किसी ऐतिहासिक चीज़ की. इसलिये आज हम आपको बतायेंगे एक स्टेशन के बारे में जहां एंट्री लेने के लिये आपको पाकिस्तानी पासपोर्ट की ज़रूरत होती है. अब जिन लोगों को इस स्टेशन के बारे में नहीं पता है. उनके मन में कई सारे सवाल उठ रहे होंगे, तो चलिये आज इसकी कहानी भी जान लेते हैं.  

India Pak
Source: ndtvimg

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के 11 ऐसे समुद्री तट जो हिन्दुस्तान का हिस्सा होते तो बात ही कुछ और होती... 

कहानी अटारी स्टशन की

दरअसल, हम बात कर रहे हैं अमृतसर स्थित अटारी श्याम सिंह (Attari Shyam Singh) नामक स्टेशन (Station) की. ये ही वो स्टेशन है जहां से पहली दफ़ा समझौता एक्सप्रेस चली थी. जानकारी के मुताबिक, भारतीय बिना वीज़ा (Visa) इस स्टेशन के अंदर नहीं जा सकते, क्योंकि यहां की सभी ट्रेने सिर्फ़ पाकिस्तानी नागरिकों के लिये ही हैं.  

अटारी स्टशन
Source: indiarailinfo

कैसा होता है स्टेशन का माहौल?

अटारी स्टेशन का माहौल बाक़ी स्टेशन्स से थोड़ा अलग होता है. दोनों देशों के रिश्तों को देखते हुए स्टेशन पर अनहोनी होने की आशंका लगी रहती है. इसके मद्देनज़र रखते हुए यहां हमेशा सशस्त्र बल तैनात रहते हैं. इसके साथ ही स्टेशन में एंट्री लेने वाले सभी यात्रियों को कई जांच प्रक्रियों से होकर गुज़रना होता है. यही नहीं, स्टेशन के कोने-कोने में सीसीटीवी भी लगे रहते हैं.

Pak स्टेशन
Source: indiarailinfo

नहीं ले सकते हैं कुली की मदद 

कहते हैं कि इस स्टेशन में यात्रियों के अलावा दूसरे लोगों को आने की इजाज़त नहीं होती है. इसलिये यहां कोई कुली भी नहीं होता है. स्टेशन की तरफ़ से यात्रियों को उतना ही सामान लाने की इजाज़त होती है, जितना वो ख़ुद उठा कर ले जा सकें. 

ये भी पढ़ें: नवापुर रेलवे स्टेशन: एक ऐसा स्टेशन जिसका आधा हिस्सा महाराष्ट्र में है, तो आधा गुजरात में है 

Travel
Source: tosshub

बिना वीजा हो सकती है गिरफ़्तारी  

जानकारी के अनुसार, अगर आपने यहां बिना वीजा के एंट्री लेने की कोशिश की, तो आपको गिरफ़्तार भी किया जा सकता है. 'धारा-14' के तहत पकड़े गये लोगों को जमानत मिलने में भी कई सा लग जाते हैं.

वीजा
Source: indiarailinfo

स्टेशन से जुड़ी जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट में बताइयेगा ज़रूर.