Boiled Milk Logic : हमारी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में अक्सर कुछ ना कुछ चीज़ें घटित हो रही होती हैं. हम उन्हें बस देखते हैं, लेकिन कभी उनकी वजह जानने की कोशिश नहीं करते. इनमें से एक दूध का उबल कर गिरना है. अक्सर हम अपनी मम्मी से दूध (Milk) उबल जाने की वजह से डांट सुनते रहते हैं. मम्मी दूध उबलने पर गैस बंद करने के लिए बोल जाती हैं और हमें तब याद आती है, जब दूध उबल कर बर्तन से गिरने लगता है. इसके बाद डांट तो पड़ती ही है, साथ में कुटाई होती है वो अलग.

पर क्या आपने कभी सोचा है कि दूध उबलने पर बर्तन से बाहर क्यों निकल आता है, जबकि पानी उबलने पर ऐसा नहीं होता? आइए आज हम आपको इसकी वजह बताते हैं. 

दूध में होते हैं कई तरह के खनिज

दरअसल, दूध में फैट, विटामिन, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और कई तरह के खनिज होते हैं. दूध में 87 फ़ीसदी पानी, 4 फ़ीसदी प्रोटीन, 5 फ़ीसदी लैक्टोज़ (दूध में चीनी का रूप) होता है. दूध में ज़्यादा पानी होता है, जोकि गर्म होने पर भाप बनना शुरू हो जाता है. इस प्रोसेस से इसमें शामिल खनिज गाढ़े होने शुरू हो जाते हैं.

yumeating

क्यों दूध उबलकर बाहर गिरता है?

दूध जब गर्म होता है, तो इसमें पाए जाने वाले खनिज वजन में हल्के होने के चलते दूध के ऊपर तैरने लगते हैं. नीचे में ज़्यादा मात्रा में पानी बचता है और खौल कर भाप बन रहा होता है. लेकिन ऊपर खनिज मौजूद होते हैं, जिसकी वजह से भाप बाहर नहीं निकलती. लेकिन पानी का प्रतिशत ज़्यादा होने के चलते पानी ऊपरी परत को अपने रास्ते से हटाता है और भाप को बाहर निकाल देता है. यही वजह है कि बचा हुआ दूध बर्तन में ही रहता है और ऊपरी परत बर्तन के बाहर आ जाती है.

Boiled Milk Logic
krishijagran

ये भी पढ़ें: दूध में दालचीनी, सुनने में थोड़ा अजीब लगा ना? पर सोने से पहले इसे पीने से होंगे ये 10 फ़ायदे

पानी क्यों नहीं बाहर निकलता है?

अब अगर ऐसी बात है तो सवाल उठता है कि पानी उबलकर क्यों नहीं गिरता. पानी में कोई भी खनिज पदार्थ नहीं होते हैं. इसलिए इसमें ऊपर परत नहीं बनती है. उबलते पानी में भाप निकलती रहती है, इसलिए वो बर्तन से बाहर नहीं निकलता और इसमें उबलता ही रहता है. 

मम्मी जब डांट कर कहती हैं मलाई निकल गयी सारी, तो उसमें भी एक लॉजिक है.