Fanta बहुत ही Fantastic कोल्ड्रिंक है. ये बात हम नहीं पूरी दुनिया कहती है. तभी तो ये दुनिया के 180 देशों के लोग इसे बड़े ही मज़े से पीते हैं. यही नहीं ये पूरे वर्ल्ड में 90 फ़्लेवर्स में उपलब्ध है. इसे बनाने वाली कंपनी सालाना 7 हज़ार करोड़ रुपये से भी अधिक का बिज़नेस  करती है.

Snapdeal

फ़ैंटा कैसे बनी करोड़ों लोगों की फ़ेवरेट कोल्ड्रिंक और क्या है इसके बनने की स्टोरी, इसके बारे में हम आज आपको बताएंगे.   

द्वितीय विश्व युद्ध से फ़ैंटा का गहरा नाता  

Die Magazine

फ़ैंटा की खोज के पीछे एक शख़्स की कल्पना(Fantasy) का हाथ था और इसके आविष्कार का क़िस्सा द्वितीय विश्व युद्ध से जुड़ा है. दरअसल, हुआ यूं कि जर्मनी में कोका कोला(Coca Cola) की बहुत डिमांड थी इसलिए वहां पर भी उसके बहुत सारे प्लांट खुल चुके थे. यहां हर साल लाखों कोका कोला कोल्ड ड्रिंक की बोतलें बनकर तैयार होती थीं. मगर 1939 में जर्मनी ने पोलैंड पर हमला कर दिया और द्वितीय विश्व युद्ध शुरू हो गया. 

ये भी पढ़ें: पीनट बटर की खोज से जुड़े एक नहीं तीन-तीन क़िस्से हैं, उनके बारे में जानते हैं आप? 

बिज़नेस बचाने की लिए निकाला ये आइडिया  

wikimedia

तब अमेरिका के बाद जर्मनी में ही कोका कोला की कंपनी की सेल्स आसमान छूती थीं. जर्मनी में इसके 43 बॉटलिंग प्लांट थे और 600 के क़रीब लोकल डिस्ट्रीब्यूटर्स. अब युद्ध छिड़ गया तो जर्मनी तक कोका कोला का सिरप या फ़ॉर्मूला आना बंद हो गया. तब जर्मन कोका कोला कंपनी के हेड Max Keith ने बिज़नेस को चलाए रखने के लिए एक आइडिया सोचा. उन्होंने कल्पना की कि क्यों न वो लस्सी, पनीर बनाने के बाद बचने वाले पानी और सीज़नल फ़्रूट को मिक्स कर कोई ड्रिंक बनाएं.

जर्मनी में हिट हुआ था फ़ैंटा का स्वाद

Reddit

इसका रिज़ल्ट शानदार रहा और एक नई कोल्ड ड्रिंक बनकर तैयार हो गई क्योंकि उन्होंने इस प्रोडक्ट की कल्पना की थी इसलिए उन्होंने इसका नाम फ़ैंटा रख दिया. मज़े की बात ये है कि इसका स्वाद जर्मनी के लोगों को भी बहुत पसंद आया. 1943 तक जर्मनी में हर साल 30 लाख फ़ैंटा के बॉक्स बिकने लगे थे. हालांकि, द्वितीय विश्व युद्ध के बाद जर्मनी में फ़ैंटा का प्रोडक्शन बंद हो गया था.   

1955 में आई थी ऑरेंज फ़्लेवर वाली मॉर्डन फ़ैंटा

hccb

1955 में जब Pepsi ने नए फ़्लेवर की कोल्ड ड्रिंक मार्केट में उतारनी शुरू कर दी तब फिर से फ़ैंटा को मार्केट में उतारा गया. यही वो साल था जब ऑरेंज फ़्लेवर वाली मॉर्डन फ़ैंटा लोगों के सामने आई थी. बाकी तो सब जानते ही हैं, आज भी फ़ैंटा की डिमांड लोगों के बीच कम नहीं हुई है. 

फ़ैंटा की इस फ़ैंटास्टिक राइड की स्टोरी जानकर आपको कैसे लगा कमेंट बॉक्स में बताना.